Business

पासबुक से जुड़ी खबरें: ईपीएफ पासबुक की बैलेंस जांच

आज की डेट में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसका बैंक में खाता ना हो। किस बैंक में खाता है ओर एक पहचान पत्र के तौर पर काम आने वाली चीज ‘पासबुक’ होती है। भारतीय रिजर्व बैंक जिसे बैंकों का बैंक भी कहा जाता है, हर साल कुछ ना कुछ अपडेट निकालता रहता है। आइए जानते हैं बैंक ने हाल में कौनसी अपडेट निकाली है ओर बैंक पासबुक से जुड़ी खबरें क्या हैं।

पासबुक से जुड़ी पहली खबर

अगर आपके बैंक खाते की पासबुक खो जाए तो अब इसे सिर्फ अपने आधारकार्ड और अकाउंट नंबर की मदद से दुबारा बनाया जा सकता है। बस आपको सबसे पहले नजदीकी शाखा में विजिट करना होगा जहां ग्राहक सेवा अधिकारी से समस्या सांझा करनी है। जिसके बाद आपको एक नई पासबुक रिक्वेस्ट संबंधी फाॅर्म दिया जाएगा। इसे भरकर एक फोटो और आधार कार्ड की छायाप्रति संलग्न करके ग्राहक अधिकारी के पास जमा करें। इसके बाद आपको नई पासबुक प्रदान कर दी जाएगी।

खाताबुक (Pass Book) से जुड़ी दूसरी खबर (27 January 2024)

डिजिटल युग में आपको अब बैंक की लाईनों में घंटों तक खड़े रहने की आवश्यकता नहीं है। जहां पहले खाते में जमा राशि की एंट्री करवाने के लिए भारतीय स्टेट बैंक की लंबी लाईन में 2 घंटे का इंतजार करना पड़ता था इससे अब निजात मिल जाएगी। इसके लिए बैंक ने एक नंबर जारी किया है। जिसपर काॅल करके अपना अकाउंट नंबर बताना है ओर सामने से ग्राहकों सेवा प्रतिनिधि आपके खाते और लेन-देन संबंधी सभी जानकारी देगा। इस नम्बर को जानने के आपको एक बार अपनी नजदीकी शाखा में विजिट करना होगा।

पासबुक से जुड़ी तीसरी महत्वपूर्ण खबर (ईपीएफ पासबुक की बैलेंस जांच)

यह खबर उन बुजुर्ग लोगों के लिए है, जो पेंशन योजना के तहत रिसीव हुए बैलेंस की जानकारी प्राप्त करने के हर दूसरे महीने बैंक पहुंच जाते हैं। सभी पेंशनभोगियों के लिए एक बेहतरीन सेवा शुरू हो गई है। इस सेवा का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर से ‘उमंग एप’ डाऊनलोड करें। (ध्यान दें यह कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) का आधिकारिक मोबाइल एप्लीकेशन है और एकदम सुरक्षित है) इसके बाद अपनी खाता संख्या और मोबाइल नंबर दर्ज करें। अब आप अपनी पेंशन की डिजिटल पासबुक घर बैठे ही देख सकते हैं। Download EPFO Official App

बैंक पासबुक से संबंधित चौथी न्यूज (बैंक पासबुक की स्टेटमेंट में संक्षिप्त ब्योरा लिखे बैंक)

भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को एक आदेश जारी किया है। जारी अधिसूचना में यदि कोई ग्राहक अपने खाते की पासबुक या स्टेटमेंट मांगता है तो उसे लेन-देन संबंधित जानकारी संक्षिप्त और स्पष्ट रूप में दिया जाए। ताकि ग्राहकों को इसे पढ़ने और समझने में आसानी हो।

बैंक और व्यापार जगत व पासबुक की ताजातरीन खबरें और ताजा अपडेट पाने के लिए हिन्दू लाइव के साथ बने रहें।

Editorial

This article was written by the Hindu Live editorial team.
Back to top button