हिन्दू लाइव डेस्क, बिलासपुर। अरुणाचल प्रदेश 6 फरवरी से लापता 7 जवानों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। दरअसल सेना के ये सभी जवान पहाड़ियों गश्त कर रहे कि तभी अचानक वहां बर्फीला तूफान आ गया और ये सभी इसकी पचेट में आने के बाद लापता हो गए। इन लापता जवानों में हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर निवासी अंकित भी शामिल थे। बता दें 22 वर्षीय अंकित भारद्वाज (Ankit Bhardwaj) बिलासपुर सेऊ गांव के रहने वाले हैं।

19वीं जैक बटालियन के थे जवान

ये सभी जवान 19 जैक बटालियन के बताए जा रहे हैं। जिनका अभी तक अभी तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। इनकी तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन जारी है। अंकेश के पिता पांचा राम को इस घटना की सूचना सेना के आला अधिकारियों की और से मिली। अधिकारी ने उन्हें बताया गया है कि अंकेश भी इस दस्ते में शामिल था और बर्फीले तूफान की चपेट में आने से अभी तक लापता है। अंकेश की उम्र करीब 22 वर्ष है। उन्होंने साल 2019 में भारतीय सेना ज्वाइन हुए थे। लापता होने की सूचना मिलने के बाद परिजन परेशान हैं। गांव में भी चिंता का माहौल बना हुआ है।

अपडेट 6:00 सांयकाल

बता दें कि सैन्यकर्मी एक गश्ती दल में शामिल थे, वे रविवार को आए हिमस्खलन में फंस गए थे।मिली जानकारी के अनुसार 6 फरवरी को अरुणाचल प्रदेश में सीमावर्ती क्षेत्र मे गश्त के दौरान बर्फीले तूफान में ये सभी जवान फंस गए थे। जिसके बाद सेना खोज और बचाव दल को घटनास्थल के लिए एयरलिफ्ट किया था। काफी मशक्कत के बाद भी इन्हें बचाया नहीं जा सका।

ANI न्यूज़ ऐंजेसी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी कि 6 फरवरी को हिमस्खलन की चपेट में आए भारतीय सेना के 7 जवान शहीद हो गए हैं और उनके शव हिमस्खलन स्थल से निकाले गए हैं। जवानों की शहादत की खबर मिलते ही समूचे देश-प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई है। अभी तक शहीद जवानों के संबंध में अधिक जानकारी नहीं मिल पाई है।