अग्निपथ योजना. केंद्र सरकार ने हाल ही सेना भर्ती प्रक्रिया में बदलाव किए गए हैं। देशभर में आज कई जगहों पर युवाओं ने इस बदलाव को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। कई जगहों पर पब्लिक प्रोपर्टी को तहस-नहस किया गया। सरकार की अग्निपथ योजना पर अब पुनर्विचार का दबाव बन गया है।

उल्लेखनीय है कि कोरोना काल में 2 सालों तक कोई भर्ती रैली आयोजित नहीं की गई थी। जिसके बाद अब अग्निपथ स्कीम में अधिकतम आयु सीमा 21 से बढ़कर 23 वर्ष की गई है।

गौरतलब है कि बीते मंगलवार को केंद्र सरकार ने तीनों सेनाओं की भर्ती के लिए अग्निपथ योजना शुरू की। इस योजना के तहत युवाओं को 4 साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा और उन्हें अग्निवीर कहा जाएगा। 4 साल की सेवा पूरी करने के बाद 25% युवाओं को सेना में आगे बरकरार रखा जाएगा। अग्निवीर रहने के दौरान सैनिकों को आकर्षक फाइनेंसियल पैकेज के साथ-साथ सारी सुविधाएं मिलेंगी, लेकिन चार साल बाद उन्हें पूर्व सैन्यकर्मी का दर्जा नहीं मिलेगा और कैंटीन व मेडिकल जैसी सुविधाएं भी नहीं मिलेंगी।