हिमाचल एनिमल्स एक्ट
फोटो- न्यूज 18

शिमला. आजकल हम पशुओं को पालने के बजाय सड़कों पर छोड़ आ रहे हैं। जिसपर हिमाचल सरकार अब पशुओं के प्रति क्रूरता रोकथाम अधिनियम (Prevention of Cruelty to Animals Act) में बदलाव करने जा रही है। जारी आंकड़ों के मुताबिक हिमाचल प्रदेश की सड़कों पर 36 हजार से ज्यादा आवारा पशु (Animal) घूम रहे हैं। कब यदि कोई अपना पशु या गोवंंश (Cow) बाजार में छोड़ता हुआ पाया जाता है तो प्रदेश सरकार उक्त व्यक्ति के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने जा रही है।

हिमाचल एनिमल्स एक्ट
फोटो- न्यूज 18

गौरतलब है कि बीते शुक्रवार को हिमाचल की विधानसभा सत्र (Assembly Session) के दौरान पशुपालन मंत्री ने यह जानकारी दी है। पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने बताया कि हिमाचल प्रदेश की सड़कों पर 36,311 गोवंश आवारा घूम रहे हैं। जिसके प्रति उत्तर में भाजपा विधायक नरेंद्र ठाकुर ने कहा कि आवारा पशुओं की टैगिंग हेतु 85 फीसदी कार्य पूरा हो गया। इसे अब पोर्टल पर अपलोड करना मात्र शेष रह गया है।

यह भी पढ़ें: शिमला: स्कूल से घर लौट रही छात्रा से दुष्कर्म

टेगिंग के माध्यम से चलेगा पशु के मालिक का पता

हिमाचल प्रदेश में पशु के जन्म से लेकर जन्म स्थान व मालिक के नाम का पता लगाया जा सकता है। यदि इसके बावजूद भी कोई अपना पशु सड़कों पर छोड़ देता है तो प्रदेश सरकार एनिमल्स अधिनियम के तहत मालिक पर कड़ी कार्यवाही करेगी।