ताजमहल को तेजोमहालय बताने पर मुगलों के आखिरी वंशज याकूब आफिरुद्दीन तुसी की धमकी, कहा....
(फोटो साभार: नवोदय टाइम्स)

उत्तर प्रदेश में स्थित ताजमहल को लंबे समय से तेजोमहालय को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं। इसी बीच मुगलों के आखिरी वंशज याकूब आफिरुद्दीन तुसी ने ताजमहल को तेजोमहालय बताने वालों को धमकी देते हुए कहा कि वह ऐसे लोगों पर मुकदमा दर्ज कराएंगे। उनका कहना है कि हिंदूवादी नेताओं का ताजमहल को भगवान का घर बताने से धार्मिक माहौल बिगड़ सकता है और इससे दंगे भी भड़क सकते हैं।

ताजमहल को तेजोमहालय बताने के मामले में याकूब आफिरुद्दीन तुसी ने थाना ताजगंज में अयोध्या के संत परमहंस आचार्य, उनके शिष्य और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की पोत्री राज्यश्री के खिलाफ केस दर्ज किया है। यह शिकायत ईमेल के माध्यम से की गई है। प्रिंस तुसी का कहना है कि अगर ऐसे लोगों पर कार्यवाही नहीं की गई तो वह पीएम और सीएम योगी से इसकी शिकायत करेंगे।

मुगल आक्रान्ता बहादुरशाह जफर की छठी पीढ़ी बताने वाले प्रिंस तुसी का कहना है कि ताजमहल एक राष्ट्रीय धरोहर है और यहां पर हंगामा करने से आसानी से भी कोई प्रसिद्ध हो जाएगा। ताजमहल में हिंदूवादी संगठन जो स्वास्थ्य के निशान बने होने का दावा कर रहे हैं वह उनके द्वारा संप्रदायिक दंगे को भड़काने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने ये भी कहा कि भाईचारे को खत्म करने की कोशिशें करने वाले जगद्गुरू नहीं हो सकते।

बता दें कि अयोध्या से आए‌ जगत गुरु परमहंस आचार्य को भगवा वस्त्र और ब्राह्मण के चलते 26 अप्रैल 2022 को ताजमहल के पश्चिमी गेट पर प्रवेश नहीं करने दिया था। उन्होंने दावा किया था कि ताजमहल में भगवान शिव की पिंडी है। उल्लेखनीय है कि प्रिंस तुसी फिलहाल हैदराबाद में रहते हैं और वहीं से उन्होंने अपनी शिकायत मेल की थी।