Cm Dhami statement for Muslim university in Uttarakhand

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 में अपनी खटीमा सीट से चुनाव हारने के बावजूद भाजपा ने पुष्कर सिंह धामी पर भरोसा जताते हुए सत्ता सौंपी, लेकिन सत्ता पर बने रहने के लिए सीएम धामी को 6 माह के अंदर चुनाव जीतना होगा। वही भाजपा की सरकार बनते ही 6-7 विधायकों ने सीएम धामी के लिए सीट छोड़ने की घोषणा कर दी, जिसमें चंपावत विधायक कैलाश गहतोडी़ का नाम भी शामिल हैं। वही इस मामले में सीएम धामी ने कहा कि वह चंपावत से चुनाव लडने के संबंध में केन्द्रीय आलाकमान के सामने प्रस्ताव रखेंगे लेकिन इस अंतिम निर्णय हाईकमान का होगा।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: धामी 2.0 का आगाज, पीएम समेत कई दिग्गज आएंगे

सत्ता की कमान संभालने के बाद सीएम धामी कुमाऊं में पहली बार पहुंचे। शुक्रवार को उन्होंने बनबसा मिनी स्पोर्ट्स स्टेडियम में जनता को संबोधित किया। इसी दौरान चंपावत विधायक कैलाश गहतोडी़ ने कहा कि वह अब भी अपनी उस बात पर कायम हैं जिसमें उन्होंने सीएम पुष्कर सिंह धामी के लिए सीट छोड़ने की बात कहीं थी। उन्होंने कहा कि यदि सीएम धामी इस सीट से चुनाव लड़ेंगे तो उन्हें सीट छोड़ने में कोई संकोच नहीं है।

सीएम धामी ने विधायक गहतोडी़ का आभार प्रकट करते हुए कहा कि चंपावत सीट से चुनाव लडने के संबंध में विधायक का प्रस्ताव केन्द्रीय हाईकमान के पास रखेंगे। हालांकि उप चुनाव लड़ने को लेकर हाईकमान का निर्णय ही अंतिम होगा। उन्होंने कहा कि यदि उन्हें यहां से लड़ने का मौका मिलता है तो इससे बड़ा सौभाग्य उनके लिए क्या होगा, साथ ही सीएम ने भाजपा क़ो बहुमत देने के लिए जनता का आभार व्यक्त किया।