टोल बूथों पर लंबी कतारों से बचने के लिए सरकार ने कुछ साल पहले इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम (FASTag) की शुरुआत की थी।

उसके बाद लोग यात्रा के दौरान पड़ने वाली जगहों पर आसानी से टोल का भुगतान कर सकते हैं। FASTag की खासियत यह है कि यूजर्स इसे अपने स्मार्टफोन के जरिए आसानी से चार्ज कर सकते हैं। हालांकि इस दौरान की गई कुछ गलतियों से आपको भारी नुकसान भी हो सकता है। आइए जानते हैं कि फास्ट बीकन को चार्ज करते समय किन खास बातों का ध्यान रखना होता है।

इन बातों का रखें ध्यान

अगर आप FASTag को Paytm (Pay TM), Google Pay, Phone Pay या अन्य पेमेंट ऐप्स के साथ टॉप अप करते हैं, तो वाहन नंबर पर विशेष ध्यान दें। दरअसल, बैज के त्वरित ऑनलाइन टॉप-अप के लिए यूजर को वाहन नंबर दर्ज करना होगा। यदि आप इस दौरान गलती से गलत वाहन नंबर दर्ज कर देते हैं, तो आपको नुकसान होने का खतरा है। यदि आप गलती से गलत वाहन नंबर दर्ज कर देते हैं, तो आपके खाते से पैसा डेबिट कर दिया जाएगा और टॉप-अप संभव नहीं होगा।

बैंक खाता लिंक होना चाहिए

FASTag को टॉप अप करने से पहले, याद रखें कि आपका FASTag बैंक खाते से जुड़ा होना चाहिए। इस तरह, आपको अपनी खाता जानकारी बार-बार दर्ज करने की आवश्यकता नहीं है। इसलिए, चार्ज करने से पहले, किसी भी बैंक खाते को निर्दिष्ट करना सुनिश्चित करें। ऐसे में आपको टॉप अप करने की भी जरूरत नहीं पड़ती और जब आप टोल बूथ से गुजरते हैं तो फास्ट टैग से ही टोल काट लिया जाता है।

कार बेचने से पहले त्वरित टैग अक्षम करें

FASTag कार के रजिस्ट्रेशन नंबर से जुड़ा होता है। ऐसे में अगर आप अपनी कार बेच रहे हैं तो पहले उसके फास्ट टैग को डिसेबल कर दें। अन्यथा, टोल मार्ग के दौरान आपके FASTag से पैसा डेबिट हो जाएगा, जो बैंक खाते से जुड़ा होगा।

अतिरिक्त पैसे काटे जाने पर हेल्पलाइन से संपर्क करें

यदि टोल बूथ से गुजरते समय आपके खाते से अतिरिक्त पैसा कट जाता है, तो आपको हॉटलाइन नंबर पर संपर्क करना चाहिए। यदि अतिरिक्त पैसे काटे जाते हैं, तो आप NHAI हॉटलाइन 1033 पर संपर्क कर सकते हैं। इससे आपकी फास्ट टैग की समस्या का समाधान हो सकता है।