नौवीं से 12वीं तक के छात्र जा सकेंगे विद्यालय, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए मानक

179

देश में चल रही महामारी के कारण सारे शिक्षण संस्थान बंद हो रखे हैं। तथा ऑनलाइन माध्यम से शैक्षणिक कार्य जारी है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने मानक जारी की। जिसके अनुसार नौवीं से 12वीं तक के छात्र को अभिभावक की अनुमति से विद्यालय जा सकते हैं।

यह भी देखें- कंगना के मणिकर्णिका फिल्म्स पर बीएमसी का हथौड़ा, कंगना बोली ‘मेरी मुंबई अब POK बन गई है

आपको बता दे कि अनलॉक-4 की की गाइड लाइन के अनुसार 21 सितंबर से नौवीं से 12वीं तक के छात्र स्कूल जा सकते हैं परंतु इसके लिए अभिभावक की सहमति अनिवार्य है। स्वास्थ्य विभाग ने विद्यालयों को स्वैच्छिक आधार पर आंशिक रूप खोलने के लिए मानक उपाय जारी कर दिए हैं।

1- स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के तहत छात्रों को आपस में कॉपी, पेन, पेंसिल, पानी की बोतलें आदि जैसे सामानों का आदान प्रदान करने की सख्त मनाही है।

2- विद्यालयों में सभाओं और खेलों पर प्रतिबंध रहेगा।

यह भी देखें- मुखौटा नाटकों एवं जात यात्राओं के विशिष्ट ढोल वादक एवं निर्देशक धूमलाल जी की मदद को आगे आई त्रिवेंद्र सरकार

3- कोविड-19 लक्षणोंं वाले व्यक्तियों और छात्रों को स्कूल में आने की होगी पाबंदी।

4- छात्रों को विद्यालय आने से पहले दिखाने होगी माता पिता की लिखित अनुमति।

5- शिक्षक और छात्रों के मध्य समय-समय पर इस मामले मेंं किया जाएगा संवाद।

अब इसमें यह देखना होगा कि कितने अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार होते हैं, और कितने छात्र इस महामारी के दौरान विद्यालय जाने के लिए तैयार होंगे। साथ ही सरकार का क्या यह फैसला उचित होगा कि जब देश में महामारी चरम सीमा पर हो तो ऐसे समय में विद्यालय खोला जाए।