सावधान! आप रामायण के कौन से पात्र हैं, बताने वाले ऐप चुरा रहे हैं आपका डेटा

0
84
आप रामायण के कोनसे पात्र हैं
Image Source - Facebook

जहां रामायण की लोकप्रियता चरम पर है, वहीं हैकर्स फेसबुक से आपके डेटा को चोरी करने के लिए नया तरीका निकाल लिया है. वे राम, लक्ष्मण, भरत, विभीषण, रावण आदि में आपका व्यक्तित्व दिखाने के बहाने आपकी निजी डीटेल्स चुरा रहे हैं.

साइबर एक्सपर्ट ने इस पर क्या कहा जानिए

आप रामायण के कौन से पात्र हैं जानने की होड़ मची है. राम, लक्ष्मण, भरत, विभीषण, रावण आदि में अपना व्यक्तित्व देखने के लिए लोग गोपनीय जानकारी दांव पर लगा रहे हैं. आपका व्यक्तित्व किस नेता से मिलता है, 5 साल बाद कितनी दौलत होगी, 10 साल बाद कितना बड़ा मकान होगा, ये सब फेसबुक पर फन ऐप के जरिए शेयर कर रहे हैं. चंद मिनट की खुशी, लाइक्स और कमेंट की लालच आपके बैंक बैलेंस और निजी जानकारियों पर भारी पड़ सकता है.

आप रामायण के कोनसे पात्र हैं

साइबर एक्सपर्ट की माने तो सोशल इंजिनियरिंग का साइबर अटैक एक तरह का धोखा है। लॉकडाउन के बाद शुरू हुआ रामायण का प्रसारण भी लोकप्रिय हो रहा है. इसलिए फन ऐप में हैकर “आप रामायण के कौन से पात्र हैं” का कॉन्सेप्ट लेकर आए हैं. फेसबुक पर शेयर हो रहे फन ऐप में दिए गए लिंक पर क्लिक कर यह बताने का दावा करते हैं कि रामायण में आपका पात्र कौन सा है. साइबर सिक्यॉरिटी एक्सपर्ट उत्सव मित्तल ने कहा है कि सोशल इंजिनियरिंग एक तरह का साइबर अटैक है. इसमें फिसिंग व स्पियरिंग दोनों टारगेट सेट होते हैं .फन ऐप पर बिल्कुल क्लिक न करें. इससे आपकी निजी जानकारी चोरी हो रही है. आपके डेटा का गलत उपयोग हो सकता है. ऐसे में सतर्क रहना बेहतर रहेगा.

आप यह सोच रहे होंगे कि आखिर यह सब कैसे होता है. तो हम आपको बता दें कि आप इस ऐप का इस्तेमाल करने के दौरान कई चीजों को अलाउ (Allow) कर देते है. यानी कि उस एप से आप यह कहते है कि तुम हमारे लोकेशन को ट्रेस कर सकते हो, हमारी जानकारी को ट्रेस कर सकते हो. ऐसे में वह ऐप आपके मोबाइल से ऐसी कई जानकारी को ट्रेस कर लेता है जो आपके लिए गोपनीय रहता है. परमिशन हम अनजाने में दे देते हैं लेकिन इसका खतरा बहुत बड़ा हो सकता है क्योंकि कई बार मोबाइल की गैलरी तक एक्सेस की जाती है। इसके अलावा हैकर आपका डाटा चुरा कर धोखाधड़ी कर सकता है और उसे बेचने का काम करता है। फेसबुक की तरफ से यह बार-बार स्पष्ट किया गया है कि आपका डाटा बिल्कुल सुरक्षित है। फिर भी ऐसे ऐप या वेबसाइट पर क्लिक करना नुकसानदायक साबित हो सकता है.

इसे भी पढ़ें:- विदेशों में हिन्दुओं को संघी और इस्लामोफोबिक बताकर जेल भेजने की साजिश

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here