उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत सोशल मीडिया पर अपनी बात बेधड़क रखते हैं। हाल में ही किए उनके एक पोस्ट से राजनीतिक गलियारों में कयासों का बाज़ार गर्म है, दरअसल हरीश रावत ने लिखा है कि मतगणना के साथ वह एक नई पारी खेलने के लिए अपने को संकल्पित करना चाहूंगा। बता दें कि 10 मार्च को मतगणना होनी है, ऐसे में हरदा के पोस्ट के की मतलब निकाले जा रहे है।

यह भी पढ़ें- हरदा की पोस्ट पर कांग्रेस में बेचैनी, समर्थन में उतरे विधायक और सांसद

पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि इस संकल्प के साथ लोगों को जोड़ने के लिए वह सोशल मीडिया पर बीते दो माह के कुछ प्रसंगों को साझा करेंगे। उन्होंने अपने सोशल मीडिया साथियों से 10 मार्च तक तीन वीडियो साझा करने की बात कही है। साथ ही चुनावी माहौल में जिन लोगों ने उनके साथ भूमिका अदा की, उनके चित्र भी वह साझा करेंगे।

हरीश रावत ने माया उपाध्याय, कैलाश खेर, दिलबाग मोर जैसे हस्तियों का जिक्र करते हुए कहा कि मन और शरीर को शांति देने के लिए मैं रात के एकांत में जरूर सुनता था, मैं उन गीतों को भी आपके साथ साझा करना चाहूंगा। उन्होंने लिखा कि म उस हरीश रावत को भी याद करना चाहुंगा, जिसने अपने बचपन को अपने पिता और माँ की गोद में बिताया और वहां से लेकर आज के हरीश रावत बनने तक की जो यात्रा सिरमोली, चौनलिया, देवलीखेत, रामनगर होकर फिर जिंदगी की बड़ी छलांग के लिए लखनऊ पहुंचा।

गौरतलब है कि हरीश रावत पहले ही मुख्यमंत्री बनने का जिक्र कर चुके हैं, ऐसे ही उनकी नई पारी की बात कहने के कई कयास लगाए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि हरीश रावत लड़कों से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं और कांग्रेस की सरकार बनने पर मुख्यमंत्री पद के बड़े दावेदार भी हैं।