उत्तराखंड में जंगली जानवरों द्वारा इंसाऩो पर हमलै की घटनाएं सामने आती रहती है। जिसमें काफी लोगों की मौत और कुछ घायल हो जाते हैं। सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के नैनीसैनी के जंगलों में मवेशी चुगाने गए ग्रामीण पर गुलदार ने हमला कर दिया। ग्रामीण ने हार नहीं मानते हुए गुलदार से डटकर मुकाबला किया और लगातार गुलदार के सिर पर दरांती से हमला किया, जिससे गुलदार की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- दुखद: धारचूला में बादल फटने से परिवार के पांच सदस्य मलबे में दफन

जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर को नैनीसैनी निवासी समीप के जंगलों में मवेशी चुगाने गए थे। इसी दौरान घात लगाए गुलदार ने ग्रामीण पर हमला कर दिया। गुलदार के अचानक हमले से घबराये बिना नरेश ने डटकर मुकाबला करते हुए गुलदार के सिर पर लगातार दरांती से वार किया। जिससे गुलदार की मौत हो गई। नरेश ने गुलदार को मारने की घटना की जानकारी स्वयं वन विभाग को दी।

नरेश ने बताया कि आत्मरक्षा के लिए उसने गुलदार से मुकाबला किया वरना गुलदार उसे अपना शिकार बना देता। वहीं वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि गुलदार करीब दो साल की है और मादा गुलदार थी। गुलदार के सिर पर दराती से हमले के निशान मिले हैं। पोस्टमार्टम के बाद गुलदार के शव को नष्ट कर दिया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.