पिथौरागढ़: घर लौट रहे बुजुर्ग को गुलदार ने बनाया निवाला, दूसरी बार हुआ हमला

उत्तराखंड में जंगली जानवरों का आंतक बढ़ते जा रहा है। जिसकी वजह से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है। ऐसी ही दुखद खबर पिथौरागढ़ से सामने आ रही है, जहां आदमखोर गुलदार ने बुजुर्ग को अपना निवाला बना लिया। करीब 9 दिनों बाद मृतक का शव झाड़ियों से क्षत-विक्षत अवस्था में बरामद किया गया। इस खबर से परिजनों में कोहराम मच गया, वहीं पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

मिली जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ जनपद के डुंगरी गांव निवासी राजेंद्र सिंह मेहता एक जनवरी को दुकान बंद कर रात्रि आठ बजे लालघाटी से घर आ रहे थे, लेकिन वह घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने उनकी खोजबीन शुरू की। काफी खोजबीन के बाद भी बुजुर्ग का पता नहीं लगने पर परिजनों ने थल थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसके बाद पुलिस भी खोजबीन में जुट गई ‌‌।

बीते रविवार करीब शाम साढ़े पांच बजे कुछ युवकों ने लालघाटी क्षेत्र में सड़क से दो सौ मीटर नीचे एक झाड़ी में एक क्षत-विक्षत शव देखा और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की पहचान लापता बुजुर्ग के रुप में की। पुलिस के अनुसार गुलदार ने बुजुर्ग को मौत के घाट उतारा‌। मृतक के शरीर में गुलदार के हमले के निशान होने के कारण वन विभाग की टीम को भी इसकी सूचना दी और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बताया जा रहा है कि बीते वर्ष भी गुलदार द्वारा बुजुर्ग व्यक्ति पर हमला किया गया था। उस समय किसी तरह अपनी जान बचाकर वह घर पहुचे थे, लेकिन इस बार वह गुलदार का शिकार बन गए। इस घटना से परिजनों में मातम पसरा हुआ है।

यह भी पढ़ें- पिथौरागढ़ में किशोरी से दुष्कर्म कर फरार आरोपी को पुलिस ने दबोचा 

Leave a comment

Your email address will not be published.