हिन्दू लाइव डेस्क। हाल ही में कोर्ट के आदेश के बाद ज्ञानवापी मस्जिद में एक सर्वे हुआ जिसमें भगवान शिव का शिवलिंग मिला। जिसके बाद मुस्लिम पक्ष ने इसे पानी का बताया। लेकिन इस मामले से जुड़े वीडियो क्लिप्स में शिवलिंग के अलावा ज्ञानवापी में दक्षिण से लेकर पश्चिम की दीवारों पर शेषनाग व हिन्दू देवी-देवताओं की कला-कृतियों के अवशेष भी मिले।

इस मामले AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने बयान दिया था कि हिन्दू पक्ष और भारतीय मीडिया जिसे शिवलिंग बता रहे हैं वह पानी का फव्वारा है। इस बयान के बाद औवेसी जमकर ट्रोल हुए। सोशल मीडिया पर उनके इस बयान के बाद मीम्स की बाढ़ आ गई। एक फेसबुक यूजर्स ने पूछा कि अगर यह पानी का फव्वारा है तो इसे चलाकर दिखाओ।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ औवेसी का मीम

फोटो: फेसबुक

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे इस मीम में सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और औवेसी की फोटो जोड़ी गई है। जिसमें सीएम आदित्यनाथ ने शिवलिंग को पानी के फव्वारे वाले वाले बयान पर प्रश्न करते हुए पूछा कि इसे चलाकर दिखाओ। जिसके जवाब में औवेसी को यह कहते हुए दिखाया गया है कि यह 50 साल पहले चलता था, अब इसकी मोटर खराब हो गई है। जिसके बाद योगी को ने तंज कसते हुए कहा कि “मदरसा छाप 50 साल पहले मस्जिद में बिजली तक नहीं थी, तो मोटर क्या मुह से चलाते थे।