कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत के आवास पर धरना देंगे हरदा

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने धन सिंह रावत के आवास के बाहर धरना देने की चेतावनी दी है। वहीं हरदा के आरोपों से पल्ला झाड़ते हुए धन सिंह रावत ने कहा कि यदि कोई उनके घर आना चाहता है तो उनका स्वागत है।

यह भी पढ़ें- सरकार के 100 दिन पूर्ण होने पर सीएम पुष्कर धामी ने किया “विकास पुस्तक” का विमोचन

किसानों की समस्याओं को उठाते हुए हरदा ने ट्वीट कहा कि खाद की कमी के चलते किसान परेशान हैं। हरिद्वार से लेकर उधम सिंह नगर तक किसानों को फसलों के लिए खाद नहीं मिल रही है। खाद की व्यवस्था उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी जिस विभाग की है, वह सहकारिता विभाग सुस्त पड़ा हुआ है।

यूरिया, एमपी खाद समय पर नहीं मिल पाने से किसानों की फसलों पर इसका असर पड़ रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि उत्तराखंड के हिस्से का यूरिया प्रदेश से बाहर सप्लाई हो रहा है लेकिन सहकारिता विभाग कानों में उंगली डाले हुए बैठा है। हरदा ने कहा कि यदि स्थिति नहीं सुधरती है तो वह कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत के आवास के बाहर धरना देंगे।‌

धन सिंह रावत ने दिया ज़बाब 

हरदा के आरोपों का खंडन करते हुए सहकारिता मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि किसानों को खाद उपलब्ध कराने का काम सहकारिता विभाग का नहीं बल्कि कृषि विभाग का है। धन सिंह रावत ने कहा कि किसानों को कृषि विभाग के माध्यम से खाद दी जाती है और सहकारिता विभाग द्वारा जो भी व्यवस्था की जाती है वह की जा रही है। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति उनके घर आना चाहता है तो उसका स्वागत है।