हरिद्वार: जूना अखाड़े के संत पर जानलेवा हमला, मृतक समझकर हुए फरार

देवभूमि माने जाने वाले उत्तराखंड में आपराधिक घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। बदमाशों के हौसले बुलंद हैं। खासकर मैदानी जिलों में अपराधियों में कानून का खौफ नजर नहीं आ रहा है। हाल में ही हरिद्वार में कुछ युवकों ने जूना अखाड़े के संत पर जानलेवा हमला किया और उन्हें मृतक समझकर फरार हो गए। संत की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें देहरादून रेफर किया गया है।

यह भी पढ़ें- हैवानियत की हदें पार: हरिद्वार में चलती कार में 6 वर्षीय मासूम से सामूहिक दुष्कर्म, अस्पताल में भर्ती

जानकारी के अनुसार श्री पंचदशनाम जूना अखाड़े के संत कोठारी महंत महाकाल गिरि सोमवार देर रात जूना अखाड़ा की छावनी से कुछ दूर एक मंदिर के पास बेहोशी हालत में मिले। जिसके बाद उन्हें रानीपुर मोड़ स्थित एक निजी अस्पताल मैं लाया गया, जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि खींच युवकों ने संत पर लाठी -डंडो से जानलेवा हमला किया।

संत को मरा समझकर हमलावर फरार हो गए। अखाड़े के सचिव ने हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस का कहना है कि हमलावरों की पहचान के लिए सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाले जा रही है और जल्दी हमलावरों को गिरफ्तार किया जाएगा। संतों ने पुलिस के उच्चधिकारीयों से बात कर आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।