हरिद्वार: पुलिस भर्ती में पुलिसकर्मी की पत्नी ने दूसरी महिला को भेजा, सिपाही असलम सस्पेंड

उत्तराखंड में लंबे समय से लटकी पुलिस विभाग की भर्ती प्रक्रिया आखिरकार 15 मई से शुरू हो गई। हरिद्वार में चल रही महिला आरक्षी की भर्ती में शामिल होने आई एक सिपाही की पत्नी ने फर्जीवाड़ा कर डाला और अपनी जगह दूसरी महिला को दौड़ और ऊंची कूद में शामिल करवाया। सीओ निहारिका सेमवाल की परखी नजरों से मामला सामने आया और जब पुछताछ की मामले से पर्दा उठा। फिलहाल इस मामले में थाना सिडकुल हरिद्वार में मुकदमा दर्ज किया गया है और सिपाही पति को निलंबित कर दिया है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: फर्जी दस्तावेज पर 23 सालों से कर रहा पुलिस की नौकरी, अब हुआ मुकदमा दर्ज

वर्तमान में जनपद हरिद्वार के रोशनाबाद स्थित 40 वाहिनी पीएसी व एटीसी हरिद्वार एवं पुलिस लाइन में पुलिस फायरमैन महिला आरक्षी भर्ती प्रक्रिया चल रही है। जिसमें पुलिस लाइन रोशनाबाद में एक महिला अभ्यर्थी ने बॉल थ्रो के पश्चात लंबी कूद (लॉन्ग जंप) में अन्य अभ्यर्थियों की तरह मिले 3 प्रयासों में से शुरू के 2 प्रयासों में अपने स्थान पर किसी अन्य महिला से जंप करवा दिया एवं तीसरी/आखिरी बारी में धीरे से स्वयं लॉन्ग जंप के लिए लाइन में खड़ी हो गई।

लॉन्ग जंप की प्रक्रिया की प्रभारी सीओ निहारिका सेमवाल को जैसे ही इस बात का पता चला उन्होंने “स्थिति साफ न होने तक”, आगे की प्रक्रिया रोकने का ठोस निर्णय लेते हुए तत्काल अपने से उच्चाधिकारी को अवगत कराया। मामले की सूचना मिलने पर सिडकुल थाने हरिद्वार से कार्यवाहक थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और महिला अभ्यर्थी को हिरासत में लिया। इसके साथ ही टोली कमांडर ने इस मामले में अंजुुम जायरा निवासी पुलिस लाइन रोशनाबाद के खिलाफ तहरीर दी। एसएससी डॉक्टर योगेंद्र सिंह के निर्देश पर महिला अभ्यर्थी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसी दौरान पता चला कि उपरोक्त महिला सिपाही असलम की पत्नी हैं। मंगलवार को एसएसपी डॉ योगेंद्र सिंह रावत ने महिला के पति सिपाही असलम को भी सस्पेंड कर दिया है।