Thursday, October 29, 2020
Home Blog

‘मुस्लिम बन जा, हम निकाह कर लेंगे’ लड़की नहीं मानी सरेआम मौत के घाट उतार दिया

हरियाणा. फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में स्थित अग्रवाल कॉलेज से तीन बजे परीक्षा देेेेेकर लौट रही छात्रा को जबरदस्ती गाड़ी में बिठाने की कोशिश की जाती है, लेकिन लड़की के मना करने पर तौसीफ़ ने दिनदहाड़े उसके सिर पर गोली मारकर खुद फरार हो जाता है। हालांकि पुलिस उसे सीसीटीवी फुटेज की मदद से उसे दबोच लेती है। पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला कि तौसीफ़ के साथ उसका दोस्त रेहान भी शामिल था।

नोट: कुछ न्यूज़ चैनल्स तौसीफ (Tauseef) को तौफीक (Taufiq) लिखकर अपनी बचाने में, दूसरों की चाटने में और तीसरोंं की सेकने में लगे हैं।

‘मुस्लिम बन जा, हम निकाह कर लेंगे’

दरअसल हत्यारा तौसीफ़ और निकिता पांचवीं कक्षा से एक ही स्कूल में पढ़ते थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वह उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा था। वह उसे हर बार कहता था कि ‘मुस्लिम बन जा, हम निकाह कर लेंगे’। लड़की नहीं मानी तो उसने उसकी जान ले ली।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक तीन साल पहले ही पंचों ने इस फैसला किया था कि वह निकिता को परेशान ना करे। बावजूद इसके वर्ष 2018 में उसने निकिता को अगवा कर लिया। मामला पुलिस तक पहुंचा तब उसे छोड़ दिया गया।

2 साल पहले लड़की को किया था अपहरण

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दो साल पहले यानी वर्ष 2018 में इसी युवक ने बल्लभगढ़ से निकिता तोमर का अपहरण कर लिया था। परिजनों ने स्थानीय पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया तो बाद में लड़की को छोड़ दिया गया। सूत्रों की मानें तो तौसीफ़ के परिवार वालों ने निकिता तोमर के परिजनों से माफी मांग ली थी और एफ आईआर वापस लेने को कहा।

राजनीतिक रसूखदार है हत्यारे तौसीफ़ का परिवार

निकिता तोमर के हत्यारे तौसीफ़ एक राजनीतिक रसूखदार परिवार से ताल्लुक रखता है। इसके दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं जबकि चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के पूर्व मंत्री थे। कांग्रेस विधायक आफताब मेवात में विधायक हैं।

अल्मोडा़: हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से ऊर्जा निगम कर्मचारी की मौत

अल्मोड़ा जिले से एक बड़ी खबर आ रही है जहां हाईटेंशन लाइन की चपेट आने से ऊर्जा निगम के कर्मचारी की मौत हो गई। पुलिस विभाग की टीम ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया।

यह भी देखें- ब्रेकिंग: सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत की सीबीआई जांच पर रोक, सुप्रीम कोर्ट का फैसला

मिली जानकारी के अनुसार पौड़ी गढ़वाल के धुमाकोट निवासी जयपाल सिंह सपरिवार नैनीताल जिले के पीरूमदारा रामनगर में निवास करते है। वह ऊर्जा विभाग में उपनल के माध्यम से लाइनमैन के पद पर कार्यरत थे। वर्तमान में उनकी तैनाती अल्मोड़ा जिले के ताडी़खेत कस्बे के विद्युत उपकेंद्र में थी। बाजार क्षेत्र के लाइन ठीक करते समय ऊर्जा निगम के कर्मचारी जयपाल की मौत हो गई।

बुधवार को खंडाखाल में बाजार क्षेत्र की लाइन ठीक करते समय 11 केवी हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया। जिसकी वजह से जयपाल सिंह जमीन पर गिर पड़ा और घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस विभाग की टीम घटनास्थल पर पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

अल्मोडा़ में हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से ऊर्जा निगम के कर्मचारी की मौत

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हादसे की वजह पास में गुजर रहे 11 केवी की हाईटेंशन लाइन का शटडाउन ना लेने से हुआ। विभाग के अधिकारियों ने घटना की वजह के लिए दो कमेटी गठित की है, जिसकी जांच दो अधिशासी अभियंता और एक एसडीओ की कमेटी करेगी।

यह भी पढ़े- आरोग्य सेतु एप किसने बनाया सरकार को नहीं जानकारी, CIC ने भेजा नोटिस

हादसे की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। वही पूरे क्षेत्र में शोक की लहर है।

ब्रेकिंग: सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत की सीबीआई जांच पर रोक, सुप्रीम कोर्ट का फैसला

देहरादून. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच पर आज सुनवाई हुई। जिसमें कोर्ट ने सीबीआई जांच पर रोक लगा दी है। बता दें मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बीते बुधवार को विशेष अनुमति याचिका दायर की थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के इस फैसले पर हैरानी जाहिर की और कहा कि मामले की समीक्षा करने के बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा।

कोर्ट ने नेनीताल हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी है…. आगे की जानकारी एकत्रित की जा रही है….

फाइल फोटो: सुप्रीम कोर्ट

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे को लेकर कांग्रेस का राजभवन में कूच

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे को लेकर कांग्रेस का राजभवन में कूच

उत्तराखंड हाई कोर्ट द्वारा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर सीबीआई जांच के आदेश देने के बाद उत्तराखंड की राजनीतिक सियासी हंगामा तेज हो गए हैं। उत्तराखंड कांग्रेस गुरुवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे को लेकर राजभवन में कूच करेगी।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड: कोर्ट के फैसले से असहज त्रिवेन्द्र सिंह रावत पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे की मांग को लेकर राजभवन कूच

बता दे, मंगलवार को सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर लगे करप्शन के आरोपों की जांच के उत्तराखंड हाई कोर्ट ने सीबीआई जांच के निर्देश दिए थे। जिस फैसला को लेकर असहज दिख रही उत्तराखंड सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। नैनीताल हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद उत्तराखंड कांग्रेस मुख्यमंत्री केंद्र सरकार और भाजपा के शीर्ष नेतृत्व पर लगातार हमले बोल रही है।

उत्तराखंड कांग्रेस ने गुरुवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे की मांग करते हुए राजभवन कूच करने का ऐलान किया है, जिसमें मुख्यमंत्री के इस्तीफे को लेकर राजभवन में दस्तक देंगे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे को लेकर उत्तराखंड कांग्रेस का राजभवन में कूच

पार्टी ने कहा कि जो सरकार हमेशा जीरो टॉलरेंस की बात करती है उसी सरकार पर आज नैनीताल हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेश सरकार का असली चेहरा सामने आ गया है। कांग्रेस पार्टी के कई दिग्गज नेता प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में बुधवार को मीडिया से मिले।

उत्तराखंड प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने अपने अधिकारियों का दुरुपयोग कर आरोप लगाने वाले के खिलाफ ही एफ आई आर दर्ज करा दी। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मुख्यमंत्री पर लगे आरोपों के लिए त्रिवेंद्र सिंह रावत से इस्तीफा देने की मांग की।

यह भी देखें- उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी, पहले चरण में खुलेंगे स्नातकोत्तर कक्षाएं

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने हाई कोर्ट के निर्णय ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि भाजपा को इसके लिए अपनी नैतिक जिम्मेदारी देनी चाहिए।

IPL2020: मुंबई प्लेऑफ में, सूर्यकुमार यादव ने खेली शानदार पारी

IPL2020 में बेंगलुरु के खिलाफ जीत दर्ज करते ही मुंबई प्लेऑफ में पहुंच गए हैं। मुंबई और बेंगलुरु के मध्य हुए मैच में सूर्यकुमार यादव ने शानदार पारी खेलकर मुंबई ने ५ विकेट से जीत दर्ज की।

बेंगलुरु से जीत दर्ज कर मुंबई प्लेऑफ में

IPL2020 के 48 वां मैच मुंबई इंडियंस बनाम रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के मध्य हुआ जिसमें मुंबई ने बेंगलुरु को 5 विकेट से हरा दिया। IPL2020 में आठवीं जीत के साथ मुंबई इंडियंस १६ पॉइंट्स के साथ पॉइंट टेबल में टॉप पर है। १६ पॉइंट्स के साथ ही मुंबई ने प्ले ऑफ में अपनी जगह निश्चित कर दी है।

बेंगलुरु ने दिया १६५ रन का टारगेट

मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। बल्लेबाजी करने उतरी बेंगलुरु की शुरुआत अच्छी रही। ७.५ ओवर में ७१ रन पर बेंगलुरु का पहला विकेट गिरा। जिसके बाद किसी भी बल्लेबाज के बीच एक अच्छी साझेदारी नहीं हुई और लगातार विकेट गिरते रहे। बेंगलुरु ने २० ओवर में ६ विकेट खोकर १६४ रन बनाए।

जसप्रीत बुमराह की शानदार गेंदबाजी

मुंबई की तरफ से बुमराह ने शानदार गेंदबाजी की। जसप्रीत बुमराह ने ४ ओवर में ३ विकेट लेकर १४ रन दिए, तथा १ मेडन ओवर दिया। बोल्ट, राहुल चहल तथा पोलार्ड ने एक-एक विकेट लिए।

मुंबई की खराब शुरुआत

१६५ रनों का टारगेट पीछे करने उतरी मुंबई की शुरुआत अच्छी नहीं रही। मुंबई ने १०.४ ओवर में ७२ रन पर ३ विकेट खो दिए, परंतु सूर्यकुमार यादव एक तरफ से छोर पकड़े हुए थे। मुंबई ने १९.१ ओवर में ५ विकेट खोकर १६६ रन बनाकर जीत दर्ज कर ली। बेंगलुरु की तरफ से मोहम्मद सिराज ने २, युजवेंद्र चहल ने २ तथा क्रिस मॉरिस ने १ विकेट लिया है।

IPL2020: मुंबई प्लेऑफ में, सूर्यकुमार यादव ने खेली शानदार पारी

यह भी पढ़े- आरोग्य सेतु एप किसने बनाया सरकार को नहीं जानकारी, CIC ने भेजा नोटिस

सूर्यकुमार यादव का शानदार प्रदर्शन

सूर्यकुमार यादव को मैच में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया है। इस जीत के साथ मुंबई प्लेऑफ में पहुंच गया। सूर्य कुमार ने ४३ गेंदों में १० चौके और ३ छक्कों की बदौलत ७९ रन बनाए।

उत्तराखंड: कोर्ट के फैसले से असहज त्रिवेन्द्र सिंह रावत पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

देहरादून. मंगलवार को सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर लगे करप्शन के आरोपों की जांच के नेनीताल हाइकोर्ट ने सीबीआई जांच के निर्देश दिए थे। जिस फैसला को लेकर असहज दिख रही उत्तराखंड सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इसकी जानकारी बीजेपी के मुख्य प्रवक्ता मुन्ना चौहान ने दी।

समाचार टीवी के मुखिया उमेश कुमार ने मुख्यमंत्री पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। सीएम रावत पर आरोप है कि उन्होंने अपने संबंधियों से पैसों का लेन-देन किया है। जिसे राज्य सरकार ने बेबुनियाद बताया है और हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है।

कांग्रेस ने मांगा सीएम पद से इस्तीफा

कोर्ट की सुनवाई के बाद अब कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने त्रिवेन्द्र सिंह रावत के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की मांग की है। कांग्रेसियों ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत समेत अन्य नेता मौजूद रहे। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री का इस्तीफा न होने तक कांग्रेस अपना विरोध अभियान जारी रखेगी।

यह था पूरा मामला

दरअसल टीवी चैनल के पत्रकार उमेश कुमार ने सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर करप्शन के आरोप लगाए थे। जिसके बाद नेनीताल हाइकोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए मुख्यमंत्री के खिलाफ मामला दर्ज कर सीबीआई को जांच करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही हाइकोर्ट ने उमेश के खिलाफ सीएम की छवि विगाडने को लेकर हुई FIR भी रद्द कर दिया है।

आरोग्य सेतु एप किसने बनाया सरकार को नहीं जानकारी, CIC ने भेजा नोटिस

कोरोना महामारी शुरू होते ही आप लोगों ने आरोग्य सेतु एप का नाम जरूर सुना होगा। केंद्र और राज्य सरकार इस ऐप को डाउनलोड करने की सलाह देती रहती है। हाल में ही इस ऐप को लेकर एक बड़ी बात सामने आई है, दरअसल यह एप किसने बनाया, सरकार को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी, पहले चरण में खुलेंगे स्नातकोत्तर कक्षाएं

मीडिया खबरों के अनुसार आरोग्य सेतु एप को लेकर डाली गई आरटीआई में नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर और आईटी मिनिस्टर ने इस ऐप से जुड़ी जानकारी होने का इनकार किया है। इस ऐप के को डेवलप किसने किया, यह जानकारी भी इनके पास नहीं है।

बता दे कि सौरव दास ने सूचना आयोग के पास आरोग्य सेतु एप को लेकर शिकायत की थी। जिसमें उन्होंने कहां की एनआईसी समेत कई मंत्रालय को इस ऐप के बारे मैं स्पष्ट सूचना देने में विफल रहे हैं। आरटीआई में ऐप तैयार करने वाली कंपनी व्यक्ति और सरकारी विभागों के बारे में जानकारी मांगी गई थी।

बता दें कि आरोग्य सेतु एप की वेबसाइट ओं प्ले स्टोर पर एनआईसी का नाम है जिसको लेकर केंद्रीय सूचना आयोग ने अब एनआईसी से जवाब मांगा है एप डेवलपमेंट को लेकर स्पष्ट जानकारी क्यों नहीं है।

यह भी पढ़े- भारत ने मानवता दिखाते हुए नेपाली महिला की फरियाद पर खोला अंतरराष्ट्रीय झूला पुल

गूगल प्ले स्टोर पर ऐप को 100 मिलियन से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है। वही सरकार द्वारा कोरोना काल में जारी गाइडलाइंस में यह ऐप डाउनलोड करना अनिवार्य था। यहां एक कांटेक्ट ट्रेसिंग ऐप है जो ब्लूटूथ और लोकेशन के आधार पर काम करता है।

उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी, पहले चरण में खुलेंगे स्नातकोत्तर कक्षाएं

उत्तराखंड में कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए 2 नवंबर से विद्यालय खोला जा रहा है। इसी के तर्ज पर अब उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी हो रही है। डिग्री कॉलेज खोलने के पहले चरण में स्नातकोत्तर कक्षाओं के संचालन को अनुमति मिल सकती है।

यह भी पढ़े- भारत ने मानवता दिखाते हुए नेपाली महिला की फरियाद पर खोला अंतरराष्ट्रीय झूला पुल

मिली जानकारी के अनुसार नवंबर महीने में उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी है। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने इस संबंध में राज्य विश्वविद्यालय और उच्च शिक्षा निदेशालय को तैयारी करने के निर्देश दिए हैं।

कोरोनावायरस के खतरे के बीच उत्तराखंड सरकार ने कक्षा 10वीं और 12वीं के स्कूल के लिए एस ओ पी जारी की जा चुकी है। जिस पर अब सरकार उच्च शैक्षणिक संस्थानों को खोलने को लेकर गंभीरता से विचार कर रही है।

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने उत्तराखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की तैयारी,

बता दें, राज्य विश्वविद्यालय के कुलपतियों और उच्च शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों के साथ उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने बैठक में उच्च शिक्षा संस्थानों को खोलने पर विचार किया गया। जिसमें उन्होंने कहा कि सीमित तरीके से उच्च शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ाई के लिए नवंबर माह से शुरू करने के बारे में जल्द ही अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

यह भी देखें- उत्तराखंड: त्रिवेन्द्र रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, हाईकोर्ट ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

इस मामले में स्नातकोत्तर कक्षाओं को पहले चरण में शुरू किया जाएगा, जिसके लिए उच्च शिक्षा विभाग द्वारा s.o.p. जारी की जाएगी। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री ने विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों को जरूरी तैयारी करने के निर्देश दिए हैं।

भारत ने मानवता दिखाते हुए नेपाली महिला की फरियाद पर खोला अंतरराष्ट्रीय झूला पुल

उत्तराखंड- भारत और नेपाल के बीच पिछले कुछ समय से मानचित्र को लेकर विवाद जारी है। भारत पर नेपाल लगातार कई तरह के आरोप लगा रहा है। भारत नेे नेपाल के साथ रोटी बेटी के संबंध को कायम रखते हुए फिर मानवता का कार्य किया। भारत ने नेपाली महिला की फरियाद पर धारचूला का अंतरराष्ट्रीय झूला पुल खोल दिया।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड: त्रिवेन्द्र रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, हाईकोर्ट ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

क्या था पूरा मामला

नेपाल की ब्यास गांव निवासी मैना ऐतवाल दिल्ली एम्स में इलाज के लिए आई हुई थी इसी दौरान उनके पति धर्म सिंह ऐतवाल का निधन हो गया। पति के अंतिम दर्शन के लिए मैना ऐतवाल मंगलवार को दिल्ली से धारचूला पहुंची। धारचूला का अंतरराष्ट्रीय झूला पुल बंद होने से महिला ने नेपाल सरकार से पुल खोलने के मामले में गुहार लगायी।

नेपाली महिला की फरियाद पर खोला धारचूला का अंतरराष्ट्रीय झूला पुल

नेपाल सरकार ने इस संबंध में भारत के प्रशासन से बात की। सीमांत के जिला प्रशासन ने नेपाली महिला की फरियाद पर संवेदना दिखाते हुए मंगलवार शाम को 15 मिनट के लिए धारचूला का झूला पुल का गेट खोल दिया। गेट खोले के दौरान महिला समेत 11 अन्य भारतीय नेपाल गए तथा नेपाल से 14 लोगों ने भारत प्रवेश किया।

यह भी देखें- बाबा का ढाबा के नाम पर लिए गए डोनेशन पर उठे सवाल, बाबा तक नहीं पहुंचा पैसा

धारचूला का झूला पुल को खोलते समय कोविड-19 दिशा निर्देश तथा गहन चेकिंग के साथ 15 मिनट के लिए दोनों देशों के बीच आवाजाही कराई गई। इस दौरान सबकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई।

उत्तराखंड: त्रिवेन्द्र रावत पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, हाईकोर्ट ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

देहरादून. उत्तराखंड के वर्तमान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर भ्रष्टाचार (corruption) के आरोप लगे हैं। कोर्ट ने मामले की जांच अब सीबीआई (CBI) के हाथों सौंप दी है। दरअसल जर्नलिस्ट उमेश कुमार ने सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर पैसों के लेन-देन के आरोप लगाए थे।

यह है पूरा मामला

पत्रकार उमेश कुमार ने सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर करप्शन के आरोप लगाए थे। जिसके बाद नेनीताल हाइकोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए मुख्यमंत्री के खिलाफ मामला दर्ज कर सीबीआई को जांच करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही हाइकोर्ट ने उमेश के खिलाफ सीएम की छवि विगाडने को लेकर हुई FIR भी रद्द कर दिया है।

कोर्ट ने आरोपों की गंभीरता से लिया है और पत्रकार द्वारा दर्ज की गई याचिका को स्वीकार कर लिया है। कोर्ट ने कहा कि राज्य के हित में सच का सामना आना बेहद जरूरी है।

मुख्यमंत्री पर इन खातों पर हुई लेन देन के आरोप हैं।

उत्तराखंड: भाजपा ने नरेश बंसल को राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया

उत्तराखंड– उत्तराखंड में राज्यसभा की एक सीट उम्मीदवारोंं को लेकर संशय बना हुआ था। जिसमें भारतीय जनता पार्टी की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा समेत केंद्रीय कार्यालय सचिव महेंद्र पांडे, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल गोयल, पूर्व सांसद बलराज पासी और नरेश बंसल के नाम शामिल किए गए थे। जिस पर भाजपा ने नरेश बंसल को राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया।

यह भी पढ़े- बाबा का ढाबा के नाम पर लिए गए डोनेशन पर उठे सवाल, बाबा तक नहीं पहुंचा पैसा

बता दे कि राज्यसभा सदस्य राज बब्बर का कार्यकाल नवंबर में समाप्त हो रहा है। वर्ष २०१५ में राज्यसभा सदस्य मनोरमा डोबरियाल के निधन के बाद राज बब्बर ने उपचुनाव में जीत दर्ज कर राज्यसभा पहुंचे।

सोमवार देर रात को राज्यसभा की एक सीट के लिए भाजपा ने नरेश बंसल को राज्यसभा उम्मीदवार के लिए प्रत्याशी घोषित कर दिया। मंगलवार को वह अपना नामांकन दर्ज करेंगे।

भाजपा ने नरेश बंसल को राज्यसभा उम्मीदवार  घोषित किया

राज्य में राज्यसभा की एक सीट 25 नवंबर को खाली हो रही है। विधानसभा में बीजेपी के तीन चौथाई बहुमत के लिहाज से नरेश बंसल की जीत निश्चित है। विधानसभा में भाजपा के 57 विधायक है। उत्तराखंड कांग्रेस ने उम्मीदवार ना उठाने की पहले से घोषणा कर दी है।

यह भी देखें- हरक सिंह रावत पर आप नेता का बयान, कहा आप पार्टी के दरवाजे हरक सिंह रावत के लिए खुले

राज्यसभा सांसद उम्मीदवारों की दौड़ में नरेश बंसल दावेदारी में बाजी मार गए। उत्तराखंड भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि मंगलवार को नरेश बंसल नामांकन दाखिल करेंगे जिस दौरान प्रदेश अध्यक्ष मुख्यमंत्री और देहरादून में मौजूद विधायक उपस्थित रहेंगे।

IPL2020: पंजाब ने कोलकाता को 8 विकेट से हराया, शमी और गेल का शानदार प्रदर्शन

IPL2020 का ४६वां में शारजाह में किंग्स इलेवन पंजाब और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेला गया जिसमें पंजाब ने कोलकाता को ८ विकेट से हराकर जीत दर्ज की। पंजाब की ओर से शमी और क्रिस गेल ने शानदार प्रदर्शन किया।

यह भी देखें- IPL2020: ऋतुराज गायकवाड़ बने चेन्नई के जीत के हीरो, शानदार 65 रनों की पारी

पंजाब और कोलकाता में पॉइंट टेबल पर चौथे पायदान की लड़ाई

मैच शुरू होने से पहले पॉइंट टेबल पर चौथे पायदान पर कोलकाता नाइट राइडर्स तथा पांचवें पर पंजाब थी। दोनों टीमों के लिए यह मैच जीतना जरूरी था। पंजाब ने कोलकाता को हराकर पॉइंट टेबल में चौथे पायदान पर पहुंच गई।

कोलकाता नाइट राइडर्स ने दिया149 रन का टारगेट

शारजाह में खेले जा रहे मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने टास जीत कर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। बल्लेबाजी करने उतरी कोलकाता नाइट राइडर्स की शुरुआत अच्छी नहीं रही, और १.६ ओवर में १० रनों पर ३ विकेट खो दिए।

कोलकाता के ओपनर शुभम गिल ने शानदार बल्लेबाजी करते ३ चौके और ४ छक्कों की बदौलत ४५ गेंदों में ५७ रन बनाए। कप्तान मोरगन ने २५ गेंदों में ४० रन बनाए। कोलकाता के आठ बल्लेबाज दहाई के अंक भी नहीं छू सके। कोलकाता ने २० ओवर में ९ विकेट खोकर १४९ रन बनाए।

आईपीएल 2020 में पंजाब ने कोलकाता को 8 विकेट से हराया, शमी और गेल का शानदार प्रदर्शन

पंजाब की तरफ से शानदार गेंदबाजी करते हुए मोहम्मद शमी ने ४ ओवर में ३५ रन देकर ३ विकेट लिए। क्रिस जॉर्डन ने २, रवि बिश्नोई ने २ मैक्सवेल और अश्विन ने १-१ विकेट लिए।

किंग्स इलेवन पंजाब ने ८ विकेट से जीता मैच

१४९ रनों का टारगेट का पीछा करने उतरी पंजाब में १८.५ ओवर में 8 विकेट से मैच जीत लिया। क्रिस गेल ने शानदार प्रदर्शन करते हुए ५ छक्के और २ चौकों की बदौलत २९ गेंदों में ५१ रन बनाए। मनदीप सिंह ने ६६ और कप्तान केएल राहुल ने २८ रन बनाए। क्रिस गेल के शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

पॉइंट टेबल में चौथे पायदान पर पहुंचा पंजाब

कोलकाता पर जीत दर्ज करते पंजाब पॉइंट टेबल के चौथे पायदान पर पहुंच गया। पंजाब ने १२ मैच खेलकर ६ मैचों में जीत और ६ में हार दर्ज की है। कोलकाता नाइट राइडर्स १२ अंकों के साथ पॉइंट टेबल पर पांचवें पायदान में है।

बाबा का ढाबा के नाम पर लिए गए डोनेशन पर उठे सवाल, बाबा तक नहीं पहुंचा पैसा

बाबा के ढाबा की मदद के नाम पर सोशल मीडिया पर डोनेशन लिए गए। लेकिन आज एक और वीडियो वायरल हुई जिसमें बाबा के ढाबा के मालिक बुजुर्ग दंपति ने बताया कि ऑनलाइन आई मदद का एक भी रुपया उन तक नहीं पहुंचा है। जिसके बाद सोशल मीडिया पर एक नया बवाल मच गया।

दरअसल हाल ही में दिल्ली के ‘बाबा का ढाबा‌’ सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था. इसी बीच लोगों ने ढाबे के मालिक उन दो बुजुर्ग दंपति की मदद के लिए उनके यहां खाना खाने पहुंचे तो कुछ ने घर से उनकी मदद करनी चाही। लेकिन यह सिर्फ शुरुआती दौर में हुआ था। अब बाबा के यहां लोग सिर्फ फोटो खिंचवाने आते हैं खाना खाने नही।

बाबा ने बताया कि बहुत से लोगों ने हमारी पैसे देकर भी मदद की थी। जो हमने अपने बैंक खाते में जमा करा लिया था। कुछ ने खाते में भी भेजे थे। लेकिन इतनी ज़्यादा ट्रांजेक्शन के चलते बैंक ने बाबा का अकाउंट सीज कर लिया है।

बाबा के ढाबा को वायरल करने वाले युवक पर लोगों ने मदद के पैसें गबन कर देने जैसे कई गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। दरअसल लक्ष्य चौधरी नाम के एक यूट्यूबर ने अपनी वीडियो में डोनेशन बाबा तक ना पहुंचाने को लेकर सवाल उठाए हैं। इस वीडियो को नीचे देखा जा सकता है।

मुफ्त कोरोना वैक्सीन पर केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी का बयान, पूरे देश में मुफ्त मिलेगी

बिहार में हुए चुनाव घोषणा के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने बिहार के क्षेत्रवासियों को कोरोना वैक्सीन मुफ्त में देने की घोषणा की, जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में इस पर बहस शुरू हो गई। इसी बीच कोरोना वैक्सीन को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने कहा कि वैक्सीन भारत में सभी को मुफ्त मिलेगी।

यह भी देखें- हरक सिंह रावत पर आप नेता का बयान, कहा आप पार्टी के दरवाजे हरक सिंह रावत के लिए खुले

मुक्त वैक्सीन पर बिहार चुनाव में इस पर बहस छिड़ गई कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों ने भाजपा से इस बारे में सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि अब चुनाव में भी मुफ्त कोरोना वैक्सीन आ गया है, उन्होंने कहा कि क्या केवल बिहार की जनता के लिए ही मुफ्त मिलेगी।

केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने बालासोर में प्रचार के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने सभी को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि ना केवल बिहार बल्कि सभी भारत वासियों को मुफ्त में मिलेगी।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड: कर्मचारियों के वेतन देने के लिए रोडवेज की जमीन बेचने की तैयारी में सरकार

केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने कहा कि प्रति व्यक्ति मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराने का औसत खर्चा ₹500 आएगा। केंद्र मंत्री ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही इस बात को कह चुके हैं कि सभी भारत वासियों को वैक्सीन मुफ्त दी जाएगी।

बिहार चुनाव में संकल्प पत्र में मुफ्त वैक्सीन के बाद कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल बीजेपी से लगातार सवाल कर रही है।

उत्तरकाशी: गंगोत्री हाइवे पर सड़क दुर्घटना, युवक गंभीर रूप से घायल

न्यूज डेस्क उत्तरकाशी- जनपद उत्तरकाशी से एक सड़क दुर्घटना का मामला आया है जहां गंगोत्री हाईवे पर सड़क दुर्घटना में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। एसडीआरएफ भटवाड़ी की टीम द्वारा युवक को अस्पताल पहुंचाया गया।

यह भी देखें- हरक सिंह रावत पर आप नेता का बयान, कहा आप पार्टी के दरवाजे हरक सिंह रावत के लिए खुले

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार शाम को गंगोत्री हाईवे पर सड़क दुर्घटना में युवक काफी गंभीर रूप से घायल हो गया। गंगोत्री हाईवे पर मल्ला के पास एक बाइक और मैक्स वाहन की टक्कर हो गई है, जिसमें बाइक सवार युवक घायल हो गया। घटना स्थल पर उपस्थित लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। गंगोरी निवासी राजू इस हादसे में घायल हो गए।

यह भी पढ़े- IPL2020: ऋतुराज गायकवाड़ बने चेन्नई के जीत के हीरो, शानदार 65 रनों की पारी

एसडीआरएफ भटवाड़ी को घटना की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर पहुंच गए। जहां पर उन्होंने घायल युवक को प्राथमिक उपचार देने के बाद उसे अस्पताल पहुंचाया गया।

IPL2020: ऋतुराज गायकवाड़ बने चेन्नई के जीत के हीरो, शानदार 65 रनों की पारी

IPL2020 में लगातार अपने खराब प्रदर्शन से चेन्नई सुपर किंग्स पॉइंट टेबल पर सबसे निचले पायदान पर है। रविवार को रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के खिलाफ खेले गए मैच में चेन्नई ने ८ विकेट से जीत दर्ज की, जिसमें ऋतुराज गायकवाड़ ने शानदार अर्धशतकीय पारी खेली।

यह भी पढ़े- IPL 2020: सीएसके सेमीफाइनल से बाहर, मुंबई पॉइंट टेबल के टॉप पर

ऋतुराज गायकवाड़ का पहला अर्धशतक

मुंबई के खिलाफ खेले गए पिछले मैच में ऋतुराज गायकवाड़ कुछ खास प्रदर्शन नहीं दिखा पाए और पहले ही गेंद पर आउट हो गए। आज रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के खिलाफ उन्होंने ५१ गेंदों में ६५ रन की शानदार पारी खेली जिसमें ४ चौके और ३ छक्के भी शामिल हैं। ऋतुराज का आईपीएल में यह पहला अर्धशतक है।

ऋतुराज गायकवाड़ बने चेन्नई सुपर किंग्स के जीत के हीरो, शानदार 65 रनों की पारी
image ipl

बेंगलुरु ने दिया १४५ रन का टारगेट

IPL2020 का दुबई स्टेडियम में खेला जा रहा ४४वां मैच बेंगलुरु ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। बेंगलुरु में ६ विकेट खोकर २० ओवर में १४५ रन का लक्ष्य दिया। कप्तान कोहली ने ४३ बॉल में ५० रन तथा एबी डीविलियर्स ने ३६ गेंदों में ३९ रन बनाए।

चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से सेम कुरन में अच्छी गेंदबाजी करते हुए ३ ओवर में ३ विकेट लेकर १९ रन दिए। दीपक चाहर ने २ और सैंथर ने १ विकेट लिया।

आठ विकेट आठ विकेट सेे जीती चेन्नई सुपर किंग्स

चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल 2020 में वापसी करते हुए बेंगलुरु को १९वें में ८ विकेट से हराकर जीत दर्ज की। जिसमें ऋतुराज गायकवाड़ ने ६५ रन अंबाती रायडू ने ५० रन, प्लेसिस ने २५ रन और कप्तान महेंद्र धोनी ने १९ बनाए।

रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की तरफ से कोई गेंदबाज खास प्रदर्शन नहीं कर पाया। यजुवेंद्र चहल और क्रिस मॉरिस के अलावा कोई भी गेंदबाज विकेट नहीं ले पाया।

सीएसके सेमीफाइनल से बाहर

आईपीएल 2020 में चेन्नई सुपर किंग्स ने अभी तक १२ मैच खेले हैं, इनमें से ८ हार और ४ मैच जीते हैं। पॉइंट टेबल पर ८ अंकों के साथ सीएसके सबसे निचले दूसरे पायदान पर है। जिससे अब सीएसके लगभग सेमीफाइनल से बाहर हो गयी है।

हरक सिंह रावत पर आप नेता का बयान, कहा आप पार्टी के दरवाजे हरक सिंह रावत के लिए खुले

उत्तराखंड सरकार ने 21 अक्टूबर को भवन और सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद से कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को हटा दिया गया। जिसके बाद उन्होंने शुक्रवार को आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में ना लड़ने का ऐलान किया। आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता नवीन परिशाली ने हरक सिंह को आप पार्टी में जुड़ने केेेे लिए आमंत्रित किया।

यह भी देखें-  चारधाम यात्रा अपडेट: इस दिन बंद होंगे चारों धामों के कपाट- हिन्दू लाइव

हरक सिंह रावत के विधानसभा चुनाव 2022 में ना लड़ने के ऐलान करते उत्तराखंड राजनीति में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है, हालांकि भारतीय जनता पार्टी ने अभी इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।

वही प्रतिपक्ष नेता इंदिरा हृदयेश ने कहा कि हरक सिंह रावत एक दमदार और उत्साही व्यक्ति हैं और उनके पास चुनाव लड़ने के लिए अभी काफी उम्र बची है।

हरक सिंह रावत पर आप नेता का बयान, आप पार्टी के दरवाजे हरक सिंह रावत के लिए खुले

हरक सिंह रावत के इस ऐलान के बाद आम आदमी पार्टी उनसे संपर्क बनाने की तैयारी कर रही है। शनिवार को आयोजित प्रेस वार्ता में आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता नवीन परिशाली ने कहा कि हरक सिंह रावत के लिए आम आदमी पार्टी के दरवाजे खुले हैं, और वह आप में जुड़ने के लिए स्वतंत्र हैं। आप में जुड़ने के लिए उन्हें पार्टी की विचारधारा तथा ज्वाइन करने की जटिल प्रक्रिया से गुजरना होगा।

यह भी देखें- उत्तराखंड: कर्मचारियों के वेतन देने के लिए रोडवेज की जमीन बेचने की तैयारी में सरकार

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता नवीन परिशाली ने कहा कि अभी तक हरक की ओर से राज्य स्तर के पदाधिकारी और कार्यकारिणी के सदस्यों से आप पार्टी में शामिल होने के लिए कोई बातचीत नहीं की गई है।

चारधाम यात्रा अपडेट: इस दिन बंद होंगे चारों धामों के कपाट- हिन्दू लाइव

कोरोना के कारण इस बार चारधाम यात्रा काफी देर से शुरू हुई थी। आज विजयदशमी के पावन पर्व पर चारों धामों के कपाट बंद करने की तिथि और समय तय किए गए। पवित्र धाम बदरीनाथ केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट नवंबर में बंद किए जाएंगे।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड: कर्मचारियों के वेतन देने के लिए रोडवेज की जमीन बेचने की तैयारी में सरकार

चारों धामों के कपाट बंद होने का मुहूर्त तय

गंगोत्री धाम के कपाट 15 नवंबर को बंद

उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए अन्नकूट के पावन पर्व पर 15 नवंबर को 12:15 पर बंद किए जाएंगे। गंगोत्री मंदिर समिति की बैठक ने दशहरे के पावन पर्व पर गंगोत्री मंदिर के कपाट बंद करने का मुहूर्त तय किया गया। 15 नवंबर को 12:30 बजे मां गंगा की डोली गंगोत्री से मुखवा की ओर रवाना होगी तथा 16 नवंबर को मुखवा स्थित गंगा मंदिर में मूर्ति को स्थापित किया जाएगा।

यमुनोत्री धाम के कपाट 16 नवंबर को

यमुनोत्री मंदिर समिति की बैठक में 16 नवंबर को भैया दूज के पावन पर्व पर 12:15 बजे यमुनोत्री धाम के कपाट बंद करने के मुहूर्त तय किया है। इससे पूर्व में जमुना के मायके कर साले गांव से शनिदेव की डोली 7:30 बजे अपनी बहन यमुना की डोली को लेने यमुनोत्री धाम के लिए रवाना होगी।

बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर को

चमोली जिले में स्थित बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर को 3:35 पर मेष लग्न में बंद होंगे। विजयदशमी के पवित्र पर्व पर बद्रीनाथ धाम के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी मंदिर समिति ने बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद करने की तिथि घोषित की।

केदारनाथ धाम के कपाट 16 नवंबर

केदारनाथ धाम के कपाट भैया दूज पर 16 नवंबर को 5:30 पर विधि विधान के साथ बंद होंगे।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड:विद्यालय खोलने के लिए एसओपी जारी, पढ़े दिशा-निर्देश

देश में चल रही कोरोनावायरस के चलते चारों धामों में कपाट खुलने के बाद काफी सन्नाटा रह, परंतु पिछले 1 माह से धामों में श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।

उत्तराखंड:विद्यालय खोलने के लिए एसओपी जारी, पढ़े दिशा-निर्देश

उत्तराखंड में कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्र छात्राओं के लिए 2 नवंबर से स्कूल खुल रहे हैं। उत्तराखंड सरकार ने विद्यालय को खोलने को लिए एसओपी जारी कर दी है। जिसके अनुसार अधिक छात्र आने पर विद्यालय दो पालियों में चलाए जा सकते हैं।

यह भी पढ़े- जिलाधिकारी मयूर दीक्षित पहुँचे यमनोत्री धाम, निर्माण कार्यों का किया निरीक्षण

चल रही महामारी के कारण सरकार के लिए अभिभावकों तथा बच्चों का विश्वास जीतना सबसे बड़ा मुश्किल कार्य है। बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए अभिभावक अभी बच्चों को स्कूल भेजने से बच रहे हैं, हालांकि सुरक्षा को लेकर सरकार के काफी दावे किए जा रहे हैं, परंतु अभिभावक इस मामले को लेकर अभी पूर्णता आश्वस्त नहीं है। अभिभावकों के विश्वास जीतने के बाद ही छात्र स्कूल आने को तैयार हो सकेंगे।

विद्यालय खोलने के लिए एसओपी जारी

उत्तराखंड सरकार ने कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल खोलने का निर्णय ले लिया है, जिसके तहत सरकार ने अशोक जारी कर सभी स्कूलों की जिम्मेदारी भी तय कर दी है।

  • दो पालियों में चलाए जा सकते हैं विद्यालय
  • विद्यालय ना आने वाले छात्रों के लिए ऑनलाइन माध्यम जारी रहेगा
  • एक क्लास में अधिकतम 50% छात्र ही बैठेंगे
  • 6 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था
  • खेल-कूद और मनोरंजन संबंधित गतिविधियां बंद रहेंगी।

उत्तराखंड में विद्यालय खोलने के लिए एस ओ पी में कहा गया है कि विद्यालय में छात्रों को 6 फीट की दूरी बैठने की व्यवस्था की जाए। छात्रों की अधिक संख्या में विद्यालय को दो शिफ्ट में चलाया जा सकता है। दो शिफ्ट में चलाए जाने पर पहले शिफ्ट में कक्षा 10वीं और दूसरी में कक्षा 12वीं के छात्र छात्राओं को बुलाया जाएगा।

विद्यालय ना आने वाले छात्रों के लिए पहले की तरह ऑनलाइन शिक्षा जारी रहेगी। जारी एसओपी के अनुसार 1 कक्षा में अधिकतम 50% छात्र ही बैठेंगे।

विद्यालय खोलने के लिए जारी एसओपी के अनुसार स्कूल खोलने से पहले और हर पाली के बाद सैनिटाइज किया जाएगा। विद्यालयों में सैनिटाइजर हैंड वास थर्मल स्क्रीनिंग तथा प्राथमिक उपचार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित होगी। विद्यालय में मनोरंजन तथा खेलकूद जैसी गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगीं। स्कूल वाहनों को प्रतिदिन दो बार सेनीटाइज किया जाएगा।

यह भी देखें- उत्तराखंड: कर्मचारियों के वेतन देने के लिए रोडवेज की जमीन बेचने की तैयारी में सरकार

विद्यालय खोलने के दौरान यदि किसी छात्र शिक्षक और कर्मचारी में खांसी जुकाम या बुखार के लक्षण हो तो उन्हें प्राथमिक उपचार देकर घर भेज दिया जाएगा।

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित पहुँचे यमनोत्री धाम, निर्माण कार्यों का किया निरीक्षण

उत्तरकाशी जिलाधिकारी मयूर दीक्षित आजकल यमुना घाटी के दौरे पर है। जहां शनिवार को वह यमुनोत्री धाम में पहुंचे। यमुना घाटी दौरे के दूसरे दिन शनिवार को जिलाधिकारी ने यमुनोत्री धाम के दर्शन किए, साथ ही हो रहे निर्माण कार्यों का भी निरीक्षण किया।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड: कर्मचारियों के वेतन देने के लिए रोडवेज की जमीन बेचने की तैयारी में सरकार

शनिवार को यमुना घाटी दौरे पर जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने भंगेली गाड़ के समीप हो रहे भूस्खलन जोन का निरीक्षण किया, साथ ही वैकल्पिक मार्ग पर बने कच्चे पुल के स्थान पर बेली ब्रिज की डीपीआर तैयार कर शासन को भेजने के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया है। जिससे कि यमुनोत्री धाम में यात्रा को सुगम बनाया जा सके।

सितंबर माह से यमुनोत्री पैदल मार्ग पर सक्रिय भूस्खलन का जिलाधिकारी द्वारा स्थलीय निरीक्षण किया गया। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने गेल के शौचालय और टाइल्स का भी निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने गेल को सुविधाओं को दुरुस्त करने के आदेश दिए गए।

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित पहुँचे यमनोत्री धाम, निर्माण कार्यों का किया निरीक्षण

यह भी पढ़े- उत्तरकाशी: खेतों में घास काट रही महिला पर भालू का हमला, चेहरे और हाथों पर गंभीर चोटें

उत्तरकाशी जिलाधिकारी मयूर दीक्षित का जिलाधिकारी बनने के बाद यमुनोत्री धाम में पहली बार दर्शन करने को पहुंचे हैं। जहां उन्होंने यमुना जी के दर्शन और विशेष पूजा अर्चना की। पूजा अर्चना के बाद उन्होंने यमुनोत्री धाम मंदिर समिति और पुरोहितों के साथ बैठक की

हमसे जुड़ें

6,082FansLike
100FollowersFollow
1,098FollowersFollow
112SubscribersSubscribe

Top Stories