उत्तराखंड में आदमी, औरत, बच्चे और बुजुर्गों के लापता होने की खबरे लगातार सामने आती है। भले ही प्रशासन कितने भी दावे कर रहे हो पर जमीनी हकीकत कुछ और ही है। ऐसा ही कुछ देखने को मिला हल्द्वानी में जहां 32 दिनों से लापता करोबारी पवन कन्याल का पुलिस कुछ पता नहीं लगा पाई। शुक्रवार को ज्योलीकोट क्षेत्र में कुछ महिलाएं जब जंगल में घास लेने गई तो उन्हें वह शव दिखाई पड़ा।

यह भी पढ़ें- उत्तरकाशी: टिहरी झील से दो शव बरामद, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग पर भुजियाघाट के समीप जंगल से गुजरती गूल में शुक्रवार शव मिलने की सूचना पर पुलिस पहुंची। करोबारी पवन कन्याल के परिजनों के मृतक की शिनाख्त की। शव के सड़ी-गली अवस्था में होने की वजह से पुलिस ने जांच के लिए फॉरेंसिक टीम के पास भेजा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पायेगा।

एक माह से लापता थे करोबारी पवन कन्याल

बता दें कि 16 अगस्त को करोबारी पवन कन्याल घर से ट्रांसपोर्टनगर जाने के बोल कर कार से निकला था। घर वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने पवन की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी सिटी ने 3 टीमें गठित की। सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर पवन की अंतिम लोकेशन भुजियाघाट मिली। जिसके आधार पर पुलिस ने भुजियाघाट का 5 किमी जंगल छाना था परंतु करोबारी का कोई सुराग नहीं मिल पाया।

अब सवाल यह उठ रहे हैं कि पुलिस टीम वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी तथा डॉग स्क्वॉड की मदद से जंगल में कांबिंग की गई थी। करीब 5 किमी जंगल का क्षेत्र छानने के बाद भी पुलिस करोबारी के बारे में पता नहीं लगा पाई और अब उसी जंगल में करोबारी पवन कन्याल का शव सड़ी-गली अवस्था में बरामद हुआ।

 

भुजियाघाट में जिस स्थान पर कारोबारी की कार मिली थी उसी से करीब 700 मीटर ज्योलीकोट की ओर जाकर और फिर सड़क से करीब 500 मीटर नीचे गूल में कारोबारी का शव मिला है। जिस जगह पर शव बरामद हुआ, वहां जाने के लिए कोई रास्ते भी नहीं है।

पढ़ें- देहरादून: गुरुकुल से लापता दो नाबालिग छात्रा दिल्ली से बरामद, चौंकाने वाली है वजह

परिजनों ने लगाए आरोप

वहीं करोबारी की बहनों और मां ने पवन की मौत के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराते हुए बताया कि उन्होंने अपहरण की आशंका जताई थी परंतु पुलिस के अतिथि के पावन ने उधार लिया है और वह भाग गया। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा होता तो घर पर आज तक कोई पैसे मांगने क्यों नहीं आए। पवन की मौत की खबर सुनते ही पत्नी बसंती कन्याल बेहोश हो गई। कारोबारी के 4 और 2 साल की दो बेटियां हैं।