उत्तराखंड में भले ही धर्म परिवर्तन को लेकर कानून बने है, लेकिन धर्मांतरण का गिरोह नियमों को ताक पर रखकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है। ताजा मामला पिथौरागढ़ का है जहां एक व्यक्ति ने केरल निवासी व्यक्ति पर पत्नी का धर्मपरिवर्तन कराने और अब उस पर भी धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया। पिथौरागढ़ के डीडीहाट में जीआईसी वार्ड निवासी हरीश कुमार ने थानाध्यक्ष को लिखित पत्र दिया और किराए पर रहने वाले केरल निवासी जोमेन विन्सेट पर पत्नी का धर्मपरिवर्तन कराने और अब उस पर धर्मपरिवर्तन का दबाव बनाने का आरोप लगाते हुए बताया कि वह उसे शुक्रवार से तरह-तरह के प्रलोभन दे रहा है और ईसाई धर्म अपनाने के लिए मजबूर कर रहा है। जोमेन विन्सेट ईसाई धर्मावलंबी है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: धर्म परिवर्तन नहीं करने पर हिन्दू महिला को नौकरी से निकाला, मुकदमा दर्ज

पुलिस ने इस मामले में जोमेन विन्सेट से स्पष्टीकरण मांगा तो उन्होंने सारे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वह धर्म परिवर्तन के लिए किसी पर दबाव नहीं बनाता है, जबकि हरीश कुमार का कहना है कि उसकी पत्नी धर्म परिवर्तन कर चुकी है और उसे भी धर्म परिवर्तन के उकसाती रहती है। हांलांकि यह केवल जुबानी आरोप लगाया है। दूसरी और हरीश कुमार की पत्नी का कहना है कि धर्म परिवर्तन के लिए उस पर किसी तरह का दबाव नहीं डाला गया है और उसने अपनी स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन किया है। विभिन्न संगठनों ने पुलिस से इस मामले की गहनता से जांच करने की मांग की है।