महाराष्ट्र मे दही हांडी महोत्सव पर जमकर महाभारत हुई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ उनके चचेरे भाई राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण पार्टी(MNS) के नेताओं ने कोरोना नियमों का उल्लंघन कर ‘दही हांडी’ फोड़ी। इसके बाद पुलिस ने कई MNS कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज कर दिया है।

दही हांडी महोत्सव के दौरान COVID-19 नियमों का उल्लंघन 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को  दही हांडी महोत्सव के दौरान COVID-19 नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में MNS के 4 कार्यकर्ताओं और अन्य 8 के खिलाफ केस दर्ज किया गया। पुलिस ने MNS के 2 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए अभियान जारी है। पुलिस ने धारा 149 के अंतर्गत आयोजकों के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया था।

यह भी पढ़ें-भारत और अल्जीरिया की नौसेनाओं ने पहली बार किया सैन्य अभ्यास

‘दही हांडी’ पर प्रतिबंध से भड़के राज ठाकरे

MNS अध्यक्ष राज ठाकरे उत्सव मनाने पर प्रतिबंध को लेकर उद्धव ठाकरे पर बरसे। कहा कि पिछले साल कोरोना  की वजह से यह पर्व नहीं मना पाए, लेकिन सरकार ने इस साल भी नहीं मनाने दिया। उन्होंने आगे कहा कि राज्य में कई सारे काम और उद्योग शुरू हैं लेकिन राज्य सरकार जानबूझकर तीसरी और चौथी लहर ला रही है। राज ने मंदिरों को भी खोलने की बात पर ज़ोर है।

उद्धव ने राज ठाकरे पर किया पलटवार

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज ठाकरे पर पलटवार कर कहा कि सरकार त्योहार के खिलाफ नहीं कोरोना के खिलाफ है। कोरोना कोई सरकार का कार्यक्रम नहीं है। कोरोना की रोकथाम के लिए दुनिया में अनुशासन और नियम का पालन किया जा रहा है जो हमें भी करना चाहिए। साथ ही, उद्धव ने भाजपा पर भी निशाना साधा और कहा कि जो लोग आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं वे लोगों की जिंदगी खतरे में डाल रहे हैं।

यह भी पढ़ें-भारत में कोरोना का बेहद संक्रामक C.1.2 वेरिएंट का कोई भी केस नहीं

Leave a comment

Your email address will not be published.