खनन माफियाओं ने वन कर्मियों से मारपीट कर वर्दी फाड़ी
प्रतीकात्मक चित्र

उत्तराखंड में खनन माफियाओं को किसी की खौफ नहीं है। प्रदेश में खनन माफियों की दादागिरी दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। अब आम लोगों के साथ खनन माफिया प्रशासन के साथ दादागिरी करने से नहीं चूक रहे। इसी तरह का मामला हरिद्वार जिले के खानपुर रेंज का है, जहां खनन माफियाओं ने वन विभाग के कर्मियों से मारपीट कर उनकी वर्दी फाड़ी और फिर हथियार लहराते हुए फरार हो गए। वन कर्मियों ने आरोपियों के खिलाफ बुग्गावाला थाने में मामला दर्ज कराया है।

यह भी पढ़ें- खटीमा में एसडीएम की गाड़ी को खनन माफियाओं ने मारी टक्कर

बुग्गावाला थाने में तहरीर देते हुए खानपुर रेंज में तैनात वन आरक्षी मोहित ने पुलिस को बताया कि 28 जून रात्रि 9:00 बजे वह बुधवा शहीद चौकी से अपनी ड्यूटी तेलपुरा चेक पोस्ट के लिए जा रहे थे। इसी दौरान बुधवा शहीद अड्डे के उन्हें एक ट्रक आता दिखाई दिया है, लेकिन चालक ट्रक रोकने के बजाय उसकी स्पीड बढ़ा दी। जिसकी सूचना वन आरक्षी मोहित ने वन चौकी के कर्मचारी सत्तार को दी और स्वयं ट्रक का पीछा करने लगा है। ‌वन आरक्षी रोहित सैनी, सत्तार और अभिनव वर्सवाल ने ट्रक को कुड़कवाला तिराहे पर रोका। इतने में मोहित भी वहां पहुंच गया।

Read also- उत्तराखंड में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद, तहसीलदार पर ट्रैक्टर चढ़ाने का कोशिश

ट्रक में अवैध रूप से 20 एमएम की बजरी भरी हुई थी। वन कर्मियों ने ट्रक ड्राइवर और परिचालक खालिद से जब ट्रक से भरे खनन सामग्री की जानकारी और अभिलेख मांगे तो वह अभिलेख नहीं दिखा पाए। इसके बाद मामले की सूचना अधिकारियों को दी गई। क्षेत्राधिकारी के निर्देशानुसार ट्रक को कुड़कावाला वन चौकी लेकर जाने लगे। इसी दौरान वहां वन स्वामी अनीश मलिक निवासी मानुवास अपने साथियों के साथ वहां पहुंचा और गाली गलौज करने लगा।

खनन माफियाओं ने वन कर्मियों से मारपीट

आरोप है कि खनन माफियाओं ने वन कर्मियों के साथ मारपीट की और हथियार लहराते हुए उनकी वर्दी फाड़ दी। जिसके बाद चालक ट्रक को लेकर फरार हो गया। हालांकि वन विभाग की टीम ने घेराबंद कर मुजाहिदपुर में ट्रक को पकड़ लिया, लेकिन चालक मौके से फरार होने में कामयाब रहा। वन कर्मियों ने आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की और उनसे अपनी जान को खतरा बताया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर निवासी लालवाला मजबता खालिद निवास और अनीश के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।