पाकिस्तान उच्चायोग के 50% कर्मचारियों को भारत छोड़ने का आदेश

भारत ने आज पाकिस्तानी उच्चायोग के 50 फीसदी अधिकारियों को भारत छोड़ने के आदेश दिए हैं, साथ ही पाकिस्तान से अपने उच्चायोग के अधिकारियों को भी वतन वापस बुलाया है. आतंकी और जासूसी गतिविधियों को लेकर अब भारत दिल्ली में स्थित उच्चायोगों की संख्या आधी कर देगा. यह जानकारी आज विदेश मंत्रालय ने दी है.

दरअसल इंटेलीजेंस ब्यूरो ने पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अधिकारियों और उनके एक ड्राइवर को जासूसी करते पकड़ा था. भारत सरकार ने इन सभी को जासूसी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण पर्सन नॉन ग्रेटा करार देते हुए 24 घंटे के अंदर देश छोड़ने का आदेश जारी किया था। ये दोनों अधिकारी उच्चायोग में वीजा सहायक के पद पर तैनात थे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने अपने बयान में कहा कि पाकिस्तान वियना कन्वेंशन के अनुरूप नहीं है. और पाकिस्तान के इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों को उनके कार्य करने के लिए रोकने की कोशिश करता है.

इससे पहले पाकिस्तान में भारत के दो अधिकारियों का अपरहण किया गया था. जिसके बाद भारत की तरफ से पाकिस्तान को फटकार लगाई गई. जिसके बाद दोनों अधिकारियों को रिहा कर दिया गया. बाद में पाकिस्तान ने झूठे आरोप लगाया कि इन दोनों अधिकारियों का ड्राइवर गम्भीर रूप से घायल हो गया था और ये दोनों अधिकारी फरार हो गए. इस लिए इन्हें गिरफ्तार किया गया. भारत ने जब दबाव बनाया तो दोनों को‌ ड्राइवर सहित भारतीय उच्चायुक्त इस्लामाबाद पहुंचाया गया.

Next read. पतंजलि ने बना दी कोरोना की दवा, 5 से 14 दिनों में कोरोना मरीज के ठीक होने का दावा