बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन ने 5 दिन में तैयार किया टूटा हुआ वैली ब्रिज

हिन्दू लाइव डेस्क: पिथौरागढ़ के मुनस्यारी मिलन मोटर मार्ग वाली सेनर नदी वाला वेली ब्रिज 22 जून को टूट गया था. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो के अनुसार पुल टूटने का कारण ओवरलोड बताया जा रहा है. जिसे बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन ने 5 दिन में दोबारा तैयार कर दिया है.

बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन द्वारा यह वैली पुल 5 दिनों के अंदर जोड़ कर तैयार किया गया. ब्रिज के तैयार होने के बाद इस ब्रिज के ऊपर ट्रायल किया गया, ट्रायल के सफलतापूर्वक होने के बाद वाहनों की आवाजाही शुरू कर दी गई. इस ब्रिज की लंबाई 120 फिट है.

यह भी पढ़े :- दिलबर नेगी शायद नाम याद होगा या नहीं, पर आज भी उसे न्याय नहीं मिला

भारत के चीन के साथ हो रहे सीमा विवाद के कारण सीमाओं पर अलर्ट जारी किया गया है. चीन की सीमा भी पिथौरागढ़ से लगती है. इस ब्रिज के टूटने के बाद सीमांत गांव और आइटीबीपी कैंपों के लिए समस्या उत्पन्न हो गई थी. चीन के साथ उत्पन्न हुए विवाद के लिए इस पुल पर आवाजजाही जरूरी थी. इसी वजह से इस पुल पर 24 घंटे काम करवा कर 5 दिन में तैयार किया गया.

ब्रिज बनाने के दौरान 70 मजदूरों और एक पोकलेंड मशीन की सहायता से काम 24 घंटे चलता रहा. बीआरओ की मेहनत के कारण यह पुल 5 दिन में ही बनकर तैयार हो गया. पुल के बन जाने के बाद स्थानीय लोगों और आइटीबीपी को भी राहत मिली है.