पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ केस दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

हिन्दू लाइव डेस्क, उत्तराखंड: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और उनके साथ 20 अन्य नेताओं के खिलाफ लाॅक डाउन का पालन न करने पर रायपुर थाने में मामला दर्ज किया गया है. दरअसल उत्तराखंड में बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने यह प्रदर्शन किया था.

पूर्व सीएम हरीश रावत व 20 अन्य नेताओं के खिलाफ रायपुर थाने में आपदा प्रबंधन अधिनियम धारा 51 व IPC के सेक्शन 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने यह मामला कोविड 19 के नियमों का पालन न करने पर तथा सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल न रखने को लेकर दर्ज किया है.

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता, उत्तराखंड में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बताया कि वह शिव मंदिर में दर्शन करने निकले थे, सामाजिक व्यक्ति होने के नाते उनके साथ लोग भी आ गए. कोविड 19 के नियमों के पालन करने के बावजूद भी हम पर मुकदमा दर्ज किया है.

इस कार्यवाही पर हरीश रावत का ट्वीट

हरीश रावत पर हुई इस कार्यवाही के बाद इसे सियासी रंग देते हुए एक वीडियो के क्रांतिकारियों की पसंदीदा लाइने “#सरफरोशी की तमन्ना, अब हमारे दिल में है। 
देखना है, जोर कितना बाजुए कातिल में है”।

इस वीडियो में हरीश रावत ने बताया कि वह 28 जून तक होम क्वारंटाइन में थे. आज जब वह शिव मंदिर में दर्शन के लिए निकले तो इस दौरान हमने पैट्रोल व डीजल की कीमतों को लेकर विरोध भी किया था.