उत्तराखंड में शुरू हुई चार धाम यात्राएं, केवल उत्तराखंड वासी ही कर पाएंगे दर्शन

हिन्दू लाइव डेस्क: अनलॉक 2 की शुरुआत होने के बाद अब उत्तराखंड के लोग चार धाम के दर्शन कर पाएंगे. 1 जुलाई से चार धाम यात्रा उत्तराखंड के श्रद्धालु लोग अब दर्शन कर सकेंगे. हालांकि कंटेनमेंट जोन और सील वाले इलाकों के लोगों को अभी अनुमति नहीं मिलेगी .

राज्य सरकार द्वारा चार धाम यात्रा को सुचारू रूप से चलाने के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है जिसमें उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम बोर्ड द्वारा कुछ शर्ते रखी गई थी.

सिर्फ उत्तराखंड के लोग ही दर्शन कर सकेंगे

प्रवासी लोगों को क्वॉरेंटाइन नियमों का पालन करना होगा. तत्पश्चात ही वह दर्शन कर सकेंगे.

यह भी पढ़े :- पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर किया विरोध प्रदर्शन

दूसरे राज्यों के श्रद्धालु को दर्शन की अनुमति नहीं

अनलॉक 1 में राज्य सरकार में के साथ धार्मिक स्थलों को खोलने की सहमति बनी थी. इसमें केवल उसी जिले के श्रद्धालु को दर्शन की अनुमति दी थी, परंतु इसमें जिला अधिकारी की अनुमति होना अनिवार्य था.

यह भी देखें :- वेस्टइंडीज टीम की जर्सी पर बना ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ का लोगो, इस लोगों ने खड़े किए सवाल

चार धाम यात्रा जाने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • दर्शन के लिए चार धाम देवानाथन बोर्ड की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कर के ई-पास प्राप्त करना होगा
  • धाम में केवल श्रद्धालु एक रात के लिए रुक सकते हैं
  • कोरोनावायरस से संक्रमित या कोरोनावायरस के लक्ष्ण होने पर यात्रा नहीं कर सकेंगे.
  • 10 साल से कम और 65 साल से ज्यादा के लोगों को यात्रा की अनुमति नहीं.
  • चार धाम यात्रा के समय सोशल डिस्टेंसिंग मास्क सैनिटाइजर और कोरोना से संबंधित गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य है.
  • मंदिरों में प्रवेश करने से पहले हाथ पैर दोनों अनिवार्य है.
  • मंदिरों में बाहर से चढ़ावा लाने की अनुमति नहीं.
  • देव मूर्ति को स्पर्श करने की अनुमति नहीं.

इस समय कोरोनावायरस बड़ी तेजी से फैल रहा है यात्रा को सफल और सुखद बनाने के लिए हमें गाइड लाइन का पालन करना अनिवार्य है