कालेजों ने खारिज किया गढ़वाल विवि का प्रस्ताव, 15 जुलाई तक करवानी थी सभी परिक्षाएं

न्यूज़ डेस्क, देहरादून: एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विवि से संबंध 17 सहायता प्राप्त महाविद्यालयों ने 15 जुलाई तक प्रयोगात्मक परीक्षाएं तथा सभी आंतरिक परिक्षाओं को करवाने के निर्देश दिए थे. साथ ही छात्रों का परीक्षाफल गढ़वाल विवि की‌ वेवसाईट पर अपलोड करने के भी निर्देश थे, लेकिन बुधवार को हुई प्राचार्य परिषद की बैठक के बाद इसे खारिज कर दिया है.

यह भी देखें :- जगन्नाथ रथयात्रा को मंजूरी मिलने पर बोले अमित शाह: पूरा देश इस फैसले से खुश है

बुधवार को महाविद्यालय के बैठक परिषद अध्यक्ष प्रोफेसर पी बोर्ड के अध्यक्ष में ऑनलाइन प्रचारित परिषद की बैठक हुई बैठक में इस बात पर चर्चा हुई, कि स्नातक तथा स्नातकोत्तर के आंतरिक परीक्षाओं के असाइनमेंट जमा करने की तारीख 15 अगस्त होनी चाहिए, जबकि विश्वविद्यालय ने 15 जुलाई तक निर्धारित किया है.

बैठक में किये गए कुछ मुद्दों पर चर्चा:-

सभी कॉलेजों में सैनिटाइजर, पीपी किट, तथा फर्नीचर को सेनीटाइज करने के लिए विश्वविद्यालय धनराशि जारी करें.

परीक्षा शुल्क से ही कॉलेजों में बजट जारी किया जाए

विश्वविद्यालय द्वारा दी गई धनराशि को प्रयोगात्मक परीक्षाएं असाइनमेंट जमा करने परीक्षा निरीक्षकों के भुगतान में खर्च किया जाए .

इस समय पर शारीरिक दूरी का पालन करवाना सबकी जिम्मेदारी है, इसलिए ऑनलाइन ही आंतरिक परीक्षाएं कराई जाए.

कॉलेज खोलने से पहले निर्देशक से दिशा निर्देश लिया जाय.

गढ़वाल विवि से संबद्ध सहायता प्राप्त इन महाविद्यालय मैं 70 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं हैं. बैठक में प्रचार्यों ने देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई है. साथ में ही यह सुनिश्चित किया, कि कॉलेजों में सारी दूरी का पालन जिला प्रशासन और उच्च शिक्षा निर्देशों के दिए गए गाइडलाइन के अनुसार किया जाएगा. 29 जून से कॉलेज खोलने के पूर्व निदेशक से दिशा निर्देश प्राप्त होंगे, तभी स्कूल और कॉलेजों को खोला जाएगा. साथ में यह भी कहा गया कि कोई भी कॉलेज महामारी एक्ट का उल्लंघन नहीं करना चाहता है.