प्रवासी उत्तराखंड वासियों को वापस लाने की मांग हुई तेज

हिंदू लाइव डेस्क :- लॉक डाउन के चलते कई लोग दूसरे राज्यों में फंसेेे हुए हैं। जहां लोगों को खाने रहने की समस्या हो रही है हाल में ही उत्तर प्रदेश सरकार ने कोटा से कई लोगों को अपने राज्य में वापस लेकर आए। उत्तराखंड केे लोग भी कई राज्यों मैं अलग-अलग फंसे हुए हैं और वह अपने मदद की गुहार लगा रहे है।

त्रिवेन्द्र सिंह रावत (मुख्यमंत्री उत्तराखंड)

यह भी पढ़ें :- उत्तराखंड में करोना पाज़िटिव मरीजों की हुई 50, इस जिले में पहला केस

उत्तराखंड के बीजेपी के नेता चंदन राम दास ने प्रवासी उत्तराखंड वासियों को वापस लाने के लिए उत्तराखंड सरकार से अपील कर रहे हैं। चंदन राम दास जी उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के विधायक हैं।

जब से भारत में दोबारा लॉक डाउन दोबारा शुरू हुआ तब से यह मांग उठ रही थी कि इन लोगों को जल्द से जल्द वापस लाया जाए जिससे कि इन्हें किसी प्रकार की समस्या ना हो। लोगों की यह भी मांगे थे कि इनको लाकर सरकार 14 दिन तक क्वॉरेंटाइन रखें और उसके बाद उन्हें उनके घर जाने की अनुमति दें। लोगों में अभी यह संशय बना हुआ है कि 3 मई के बाद ब्लॉक डाउन आगे बढ़ेगा या नहीं जिसकी वजह से प्रवासी लोग वापस लौटना चाहते हैं।

उत्तराखंड सरकार से मिली सूचना के अनुसार उत्तराखंड सरकार ने कोटा से लगभग 282 छात्र उत्तर प्रदेश परिवहन की मदद से हल्द्वानी पहुंचाए गए जहां से उधम सिंह नगर के छात्रों को पंतनगर भेजा गया।