उत्तराखंड: टिक टॉक वीडियो बनाने के लिए जंगल में लगा दी आग, पुलिस कर रही है मामले की तहकीकात

हिंदू लाइव डेस्क :- इस समय जहां पूरा विश्व करोना वायरस जैसी महामारी से लड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर कुछ लोग गलत काम करने से बाज नहीं आ रहे हैं। टिक टॉक एक मनोरंजक ऐप है, परंतु लोगों के दिमाग मेंं पॉपुलर होने के लिए लोग कुछ भी करने को तैयार है। इस एप्स ने लोगो की मानसिकता पर इतना हावी हो चुका है कि लोग कुछ लाइक्स और व्यूज बनाने के लिए किसी भी कदर तक गिरने को तैयार है । भारत में टिक टोंक को बैन करने की मांग हमेशा उड़ती रहती है।

टिक टोक वीडियो लिए के जंगलों में लगाई आग

उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में एक व्यक्ति ने टिक टॉक वीडियो बनाने के लिए स्वयं ही जंगलों में आग लगा दी। वीडियो मिलने पर महिपाल रावत नाम के व्यक्ति ने उत्तराखंड पुलिस को टैग करके यह सूचना दी।

मिली जानकारी के मुताबिक आग लगाने वाले शख्स मोहित बिष्ट हैं जो सल्ट विधानसभा में स्थित पीनाकोट गांव का है।

यह भी पढ़ें :- उत्तराखंड का वह गांव जहां 20 साल बाद भी सड़क नहीं

उत्तराखंड पुलिस में इस मामले को संज्ञान में लेकर अल्मोड़ा पुलिस को कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं. उत्तराखंड पुलिस के इस तत्परता की सभी तारीफ कर रहे हैं. आप सोशल मीडिया पर लोग उपरोक्त व्यक्ति पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं, ताकि दूसरे लोग याद दोबारा ना करें। महिपाल रावत से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि अल्मोड़ा पुलिस द्वारा उनसे संपर्क किया गया और इस मामले की जानकारी ली गई।

यह भी पढ़ें :- ब्रेकिंग: लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से नैनीताल में रेड जोन घोषित

अभी कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग की तस्वीरें शेयर कर रहे थे, जिसका खंडन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने स्वयं किया था और फेक न्यूज़ फैलाने वालों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए थे।

उत्तराखंड पुलिस ने फेक न्यूज़ फैलाने पर कई टि्वटर हैंडल और फेसबुक पेज पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए थे।