मुंबई हाईकोर्ट का BMC पर तंज़, कहा वैसे तो आप तेज़ हैं, फिर इस मामले में सुस्ती क्यों?

Kangna Ranot Case:  गुरुवार को मुंबई हाईकोर्ट में अभिनेत्री कंगना रनौत के आफिस पर हुई बीएमसी की कार्रवाई को लेकर सुनवाई हुई। कोर्ट ने मुम्बई महानगर पालिका (BMC) पर तंज़ कसते हुए कहा कि “वैसे तो आप तेज़ हैं, पर इस मामले को लेकर सुस्ती क्यों है।”

कोर्ट ने कहा कि बारिश के मौसम में किसी इमारत को ऐसे नहीं छोड़ा जा सकता है। इस पर बीएमसी ने कोर्ट से समय मांगा है। जिसकी सुनवाई अब शुक्रवार तक टाल दी गई है। कोर्ट ने मुम्बई महानगर पालिका से इस मामले को शुक्रवार तक जवाब मांगा है।

बीते दिनों में महाराष्ट्र सरकार और अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच काफी विवाद हुआ था। जिस दौरान शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना रनौत पर अभद्र टिप्पणी की थी।

Kangna Ranot case

संजय राउत और कंगना के बीच चली इस लम्बी बहस के बाद बीएमसी ने अचानक 9 सितंबर को कंगना के आफिस में हुए अवैध निर्माण को लेकर तोड़फोड़ शुरू कर दी थी। कंगना ने इसके बाद कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और बीएमसी से 2 करोड़ का हर्जाना मांगा।

बता दें कोर्ट ने BMC की इस मामले को लेकर की गई कार्रवाई को राजनीति दबाव में आकर की गई कार्रवाई बताया था। तोड़फोड़ की अगली सुबह शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखा था कि “उखाड़ लिया”।