उत्तराखंड: सरकारी राशन की दुकानों में खुले आम घोटाला, कहा जो कर सकते हो करो

हिन्दू लाइव डेस्क, उत्तराखंड:- आज देेश वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ रहा है, सभी राज्यों को एक महीने से लाॅक डाउन किया गया है, मजदूरी करके खाने वाले लोगों को सरकार द्वारा की गई थोडी सी मदद भी गरीबों तक नहीं पहुंच पा रही है।

फाइल फोटो.

ऊखीमठ गुप्तकाशी में स्थित गांवों में सरकारी सस्ते राशन की दुकानों में खुले आम घोटाला किया जा रहा है, जहां प्रशासन का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ऊखीमठ गुप्तकाशी में स्थित देवर गांव के निवासियों ने बताया है कि जगदीश चौहान जो इस गांव के सरकारी राशन डीलर हैं द्वारा ग्रामीणों को कम दे रहा है। ग्रामीणों ने राशन डीलर पर आरोप लगाया है कि वह

हमारी राशन में से ढाई किलो चावल व ढाई किलो गेहूं यह कहकर निकाल लेता है कि उसे इस राशन में से उस दुकान का किराया भी निकालना है।

राशन डीलर की ग्रामीणों को खुली चुनौती

जगदीश चौहान (सरकारी राशन डीलर) जो सभी ग्रामीणों की राशन में से कुछ हिस्सा निकाल लेता है। इनके खिलाफ प्रशासन द्वारा अभी तक कोई कार्यवाही की गई। ग्रामीणों ने राशन डीलर जगदीश चौहान पर आरोप लगाया है कि उसने ग्रामीणों को खुली चुनौती दी है कि वो जहां मर्जी वहां कम्पलेंट करें।