विश्व पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है, जानिए क्या है इस वर्ष की थीम

विश्व पर्यावरण दिवस

हिंदू लाइव डेस्क:- विश्व पर्यावरण दिवस पर्यावरण की सुरक्षा के लिए मनाया जाता है, लगातार बढ़ रहे ग्लोबल वार्मिंग और प्रदूषण को देखते हुए संयुक्तत राष्ट्र संघ ने पर्यावरण दिवस मनाने की घोषणा वर्ष 1972 में की गई थी,‌ परंतु 5 जून 1974 को पहला पर्यावरण दिवस मनाया गया था.

इस दिवस को मनाने का उद्देश्य पर्यावरण और मानव समुदाय के बीच एक अटूट संबंध बनाने का था.

भारत में पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 19 नवंबर 1986 को लागू किया गया, जिसके अंतर्गत केंद्र सरकार के पास ऐसे अधिकार होंगे कि वह पर्यावरण की सुरक्षा और उसकी गुणवत्ता में सुधार करने तथा पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिए कड़े कदम उठा सकते हैं.

हर साल यह दिवस स्कूल कॉलेजों में मनाया जाता है और इस दिन तरह-तरह के पेड़-पौधे लगाए जाते हैं. हर साल मैं पर्यावरण दिवस की एक उद्देश्य रखा जाता है.

यह भी पढ़े :- उत्तराखंड का वह गांव जहां 20 साल बाद भी सड़क नहीं

2019 में विश्व पर्यावरण दिवस की थीम वायु प्रदूषण था. इस खास मौके पर एक गीत हवा आने दो तैयार किया गया जिसका उद्देश्य वायुुु प्रदूषण से जुड़े संदेश को को प्रसारित करना था.

यह भी पढ़ें :- शर्मनाक: गर्भवती हथिनी को खिला दिया विस्फोटक भरा अनानास, तड़प तड़प कर हुई मौत

इस वर्ष घर से ही मनाना होगा विश्व पर्यावरण दिवस

कोरोना वायरस के चलते हैं लगभग पूरे विश्व में लोग लाक डाउन किया गया है, जिसकी वजह से यातायात, फैक्ट्रियां आदि सब बंद है,लोग डाउन की वजह से प्रदूषण में काफी कमी आई है. इस साल हम सबको घर से ही पर्यावरण दिवस मनाना होगा.इस साल पर्यावरण दिवस की थीम है प्रकृति के लिए समय. हम सबको अपने घर के आस-पास एक वृक्ष लगाकर उनको देखभाल करनी होगी. आप अपने बच्चों को पर्यावरण संरक्षण हेतु जागरूक और प्रेरित करें. सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए एक पेड़ जरूर लगाएं. जिससे कि आपके बच्चों में पर्यावरण के प्रति प्रेम बना रहे और पर्यावरण के महत्व को वह जान सके.

पर्यावरण की सुरक्षा करना हम सबकी जिम्मेदारी है. हम सबको इसके लिए सजग रहना है.