fbpx

गौ हत्या पर उत्तर प्रदेश सरकार ने बनाया कानून, जानिए सजा का प्रावधान

हिन्दू लाइव डेस्क :- आजकल गौ हत्या के कई मुद्दे सामने आ रहे हैं, जिसकी वजह से लोगों में आक्रोश रहता है. हिन्दू धर्म में गाय के प्रति बहुत ही आस्था रहती है इसकी वजह से सारे हिंदू संगठन गौ हत्या पर कानून बनानेेे के लिए समय-समय पर मांग करते रहते थे. इसकेेे रोकथाम के लिए उत्ततर प्रदेश सरकार द्वारा नया कानून बनाया गया.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (उत्तरप्रदेश)

यह भी पढ़े :- ICC Kya Hai | आईसीसी क्या है और इसकी स्थापना कब हुई?

जानिए इस कानून के बारे में

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कैबिनेट द्वारा उत्तर प्रदेश में गोवध निवारण अध्यादेश 2020 के प्रस्ताव को मंजूरी मिली.

क्या है सजा का प्रावधान है

• हत्या करने पर होगी 10 साल की सजा तथा पांच लाख का जुर्माना

गाय को नुकसान पहुंचाने तथा अंग भंग करने पर 7 साल की जेल और 3 लाख तक जुर्माना

• इस अपराध में गैर जमानती वारंट होगा.

अवैध गाड़ी से पकड़े जाने पर गाड़ी चालक और वाहन स्वामी और इस कार्य में सम्मिलित लोगों को सजा और जुर्माने का भी प्रावधान है

यह भी पढ़े :- कोरोना अपडेट: उत्तरकाशी में मिले दो नए कोरोना संक्रमित मरीज

जानिए उत्तर प्रदेश गोवध निवारण अधिनियम के बारे में

उत्तर प्रदेश गोवध अधिनियम 1955 प्रदेश में 6 जनवरी 1956 को लागू हुआ था, और इसी साल इसकी नियम वाली भी बन गई थी. अभी तक इस कानून में चार बार संशोधन किया गया तथा नियमावली का दो बार संशोधन किया गया.

साथ में ही धारा 5-क के उल्लंघन पर अभियुक्त का नाम और तस्वीर ऐसे सार्वजनिक जगहों पर लगाई जा सकती है, जहां अपराधी स्वयं को छुपाता हो.

इस कानून की हो रही है तारीफ

अब अब इस कानून के आने से गौ हत्या में अंकुश लगाने में मदद मिलेगी.

तमाम हिंदू संगठनों द्वारा योगी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया गया. सोशल मीडिया पर भी इस कानून की काफी तारीफ हो रही हो.