क्या असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM उत्तराखंड में चुनाव लड़ने की तैयारी में है?

ख़बर शेयर करें

बिहार चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने 5 सीट जीते है। जिसके बाद असदुद्दीन ओवैसी ने बंगाल चुनाव में अपने उम्मीदवार को उतारने की घोषणा की है। सोशल मीडिया में भी अब उत्तराखंड में AIMIM के प्रचार-प्रसार में तेजी आई है। वही ओवैसी की पार्टी ने उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए राजनीतिक जमीन तलाशने शुरू कर दी है।

यह भी देखें- उत्तराखंड: NGT ने पटाखे फोड़ने की गाइडलाइन जारी, इन शहरों में 2 घंटे जला सकेंगे पटाखे

बता दे कि 2015 बिहार विधानसभा चुनाव में AIMIM को केवल 0.5% मत ही मिले थे, जबकि 2020 में 1.24% वोट मिले हैं। बिहार विधानसभा चुनाव में जीत से उत्साहित AIMIM पार्टी के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

क्या असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM उत्तराखंड में तलाश रही राजनीतिक जमीन

मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को रुड़की में AIMIM का कार्यक्रम हुआ था, जिसमें विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी डॉक्टर नय्यर को सौंपी गई। ऐसे में AIMIM पार्टी की नजर मुस्लिम बहुल विधानसभा सीटों पर होगी।

सोशल मीडिया पर भी ओवैसी की पार्टी AIMIM के हल्द्वानी और रुड़की पेज बने हुए हैं। उस हिसाब से यह लग रहा की ओवैसी की पार्टी अब उत्तराखंड में उम्मीदवार उतारने का मन बना दिया है, और उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 मे अपने उम्मीदवारों के लिए राजनीतिक जमीन तलाशनी शुरू दी है।

ऐसे में यदि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में ओवैसी की पार्टी अपना उम्मीदवार उतारती है, तो इससे कांग्रेस पार्टी को काफी नुकसान होगा। बिहार विधानसभा चुनाव मैं ओवैसी की पार्टी ने मुस्लिम बहुल विधानसभा सीट में पांचों सीट जीती है।

यह भी पढ़े- उत्तरकाशी: चिणाखोली व खोलियागांव पहुंचकर गंगोत्री विधायक ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी

हरिद्वार, उधम सिंह नगर और नैनीताल जिले में AIMIM अपना उम्मीदवार उतार सकती है, ऐसे में बीजेपी और कांग्रेस को उत्तराखंड में सरकार बनाना इतना आसान नहीं होगा। ओवैसी की पार्टी उत्तराखंड के मुस्लिम वोटरों का झुकाव अपनी तरफ कर सकती है या नहीं, यह आने वाले समय में ही पता चलेगा।


ख़बर शेयर करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें