देश में चल रही महामारी के दौरान सोनू सूद एक सुपर हीरो के रूप में उभर कर आए

हिन्दू लाइव डेस्क – देश में चल चल रही महामारी के दौरान सोनू सूद एक सुपर हीरो के रूप में उभर कर आए. जिस तरह से इस महामारी के दौरान उन्होने लोगो की मदद की, वह वाकई क़ाबिले तारीफ हैै.

देश में चल रही महामारी के दौरान तमाम लोगों ने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लोगों की मदद की, इस दौरान एक नाम उभरकर आया, वह है सोनू सूद.

सोनू सूद एक सुपर हीरो

सोनू सूद अभिनय के रूप में अधिकतर विलेन का रोल करते हैं, परंतु जिस तरीके से उन्होंने महामारी में लोगों की मदद की, उसमें सोनू सूद एक सुपर हीरो के रूप में पूरी तरह फिट बैठते हैं. देश में चल रहे लॉकडाउन के दौरान उन्होंने विभिन्न राज्यों के प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने का जो कदम उठाया. उनके इसी कार्य ने उन्हें सुपर हीरो बना दिया.

यह भी पढ़े – उत्तरकाशी में अवैध चरस के साथ गिरफ्तार हुआ व्यक्ति, हुआ मामला दर्ज

सोशल मीडिया के द्वारा लोगों से जुड़े

लॉकडाउन के दौरान जहां लोगों से जुड़ना बहुत कठिन था. ऐसे समय में सोनू सूद द्वारा सोशल मीडिया का उपयोग किया गया. सोनू सूद सोशल मीडिया के जरिए लोगों से जुड़े और और उनकी मदद को आगे आए. सोशल मीडिया के माध्यम से ही सोनू सूद ने जरूरतमंदों के लिए नंबर उपलब्ध कराए गए, जिससे जरूरतमंद लोगों को उनसे संपर्क करने में आसानी हुई है.

लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद के कुछ महत्वपूर्ण कार्य

जब देश में कोरोना जैसे हालातों में लोग मेडिकल वर्करों को अपनी बिल्डिंग में नहीं घुसने दे रहे थे. उस समय सोनू सूद ने मेडिकल वर्कर्स के लिए मुंबई के जुहू स्थित होटल को इस्तेमाल करने के लिए खोल दिया था.

मई महीने में सोनू सूद में प्रतिदिन 25000 लोगों को खाना खिलाना शुरू किया. उनके इस पहल से कई राज्यों के प्रवासी लोगों को मदद मिली.

यह भी देखें – हरिद्वार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में हुई वृद्धि, आज मिले 150 नए मामले

प्रवासियों को घर वापस भेजने के लिए उपलब्ध कराई बस

लॉक डाउन के दौरान परिवहन सुविधा बंद होने के कारण कई मजदूर लोग पैदल ही अपने घर जाने लगे. सोनू सूद द्वारा वापस लौट रहे प्रवासियों के लिए बस उपलब्ध कराई गई जिससे कि वापस लौट रहे प्रवासी अपने घर सकुशल लौट सके. सोनू सूद शुरुआत में 350 लोगों को घर भेजा. जिसके बाद से ही लोगों को उन पर विश्वास हो गया. लोग सोशल मीडिया के माध्यम से इन जुड़ने लगे. सोनू सूद और उनकी टीम द्वारा अभी तक लगभग 20000 लोगों को घर भेज चुके हैं. सोनू सूद और उनकी टीम लगातार सोशल मीडिया से लोगों के साथ जुड़ रही है.

हवाई और रेल यात्रा से भी भेजे कई लोग

  • ओडिशा के 167 प्रवासी कामगारों को हवाई यात्रा से भेजा घर
  • उत्तराखंड के 170 प्रवासी कामगारों को भी हवाई यात्रा से भेजा
  • उत्तर प्रदेश के 800 से ज्यादा कामगारों को ट्रेन से भेजा घर

कई लोगों ने लगाया राजनीति करने का आरोप

सोनू सूद द्वारा लोगों की मदद करने के बाद जब वह महाराष्ट्र के राज्यपाल से मिले उसके बाद से ही कई लोगों ने उन पर बीजेपी का एजेंट होने की बात कही. सोनू सूद ने जवाब देते हुए कहा कि लोगों की मदद वह इंसानियत के नाते कर रहे हैं, और लोगों को इस पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.

सोनू सूद सुपर हीरो के रूप में युवाओं के रोल मॉडल बने

इस महामारी के दौरान सोनू सूद द्वारा जिस तरह से लोगों की मदद की गई. उस तरीके से सोनू सूद को सुपर हीरो कहना कोई गलत नहीं होगा. जहां इस महामारी के दौरान कई लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले. वहीं सोनू सूद जमीनी स्तर पर लोगों से जुड़ कर उनकी मदद करते रहे. आज सोनू सूद युवाओं के रोल मॉडल बने हुए हैं. सोनू सूद के इन प्रयासों के द्वारा ही कई घरों की मुस्कान वापस लौटी है.