चंपावत: बाइक सवार युवकों पर तेंदुए का हमला, बाल-बाल बची जान

उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों में जंगली जानवर आतंक का पर्याय बन चुके हैं। आए दिन राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों में गुलदार तेंदुए के हमले की खबरें सामने आती रहती है। इसी कड़ी में एक और खबर पिथौरागढ़ जनपद से आ रही है जहां जिला मुख्यालय से सटे सिल्पाटा गांव में खेत में काम कर रही महिला पर तेंदुए ने हमला कर दिया। आस-पास मौजूद ग्रामीणों के शोर मचाने पर तेंदुए महिला को छोड़कर भाग गया। घायल महिला को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार देकर महिला को घर भेज दिया। वहीं दिन दहाड़े तेंदुए के हमले से गांव में दहशत छाई है।

जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ जनपद के सिल्पाटा गांव निवासी बबीता पुनेठा पत्नी नवीन पुनेठा बीते गुरुवार को घर से 50 मीटर दूरी खेत में काम कर रही थी। इसी दौरान वहां घात लगाए बैठे तेंदुए ने महिला पर हमला कर दिया। इसी दौरान पास के दूसरे खेतों में काम कर रहे ग्रामीणों ने हल्ला मचाया। जिसके बाद गुलदार महिला को छोड़कर भाग गया, जिससे महिला की जान बच सकी। तेंदुए के हमले से महिला के हाथ में हल्की चोट आई है। घायल महिला को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया जहां प्राथमिक उपचार देने के बाद महिला को घर भेज दिया।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: जंगल घास लेने गई दो महिलाओं पर गुलदार का हमला, अस्पताल में भर्ती

तेंदुए के हमले से क्षेत्र में दहशत व्याप्त है वहीं ग्रामीणों ने वन विभाग से क्षेत्र में पिंजरा लगाकर तेंदुए को पकड़ने की मांग की, जिससे इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो सके। ‌वन विभाग की टीम ने क्षेत्र में गश्त शुरू कर दी तथा गुलदार प्रभावित इलाकों में ग्रामीणों को अलर्ट रहने के साथ अकेले घर से बाहर ना जाने की अपील की है।