पिथौरागढ़: आंगन में उमड़ा बंदरों का जमावड़ा, घर के बाहर इंतजार करते रहे सदस्य

पिथौरागढ़ में बंदरों का संवेदनशीलता का मामला सामने आया है, जहां एक बंदर को करंट लगने पर झुलस गया था और नगरपालिका के रिटायर्ड कर्मचारी के घर के आंगन में जा गिरा था। कुछ ही देर में वहां बंदरों का जमावड़ा लग गया और घायल बंदर को होश आने तक वहीं बैठे रहे। इतना ही नहीं आंगन में परिवार के किसी भी सदस्य को घुसने नहीं दिया। घायल बंदर की हालत में सुधार आने पर बंदरों का गुट उसे अपने साथ ले गया।

यह भी पढ़ें- पिथौरागढ़: केरल निवासी पर पत्नी का धर्म परिवर्तन कराने का आरोप, अब बना‌ रहा दबाव

जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ जिले के सोरगढ़ किले के पास नगरपालिका के रिटायर्ड कर्मचारी रहते हैं। गुरुवार को वह परिवार सदस्य बाजार गए हुए थे। बंदरों का झुंड उछल-कूद करते दौरान एक बंदर को कंरट लग गया और वह रिटायर्ड कर्मचारी के घर के आंगन में गिर गया और देखते ही देखते वह बंदरों का जमावड़ा लग गया। सभी बंदर गुप-चुप तरीके से घायल बंदर की ओर देख रहे थे।

कुछ देर बाद जब नगरपालिका के रिटायर्ड कर्मचारी का परिवार वापस आया तो बंदरों ने उन्हें घर में घुसने नहीं दिया, जिससे उन्हें घंटों बाहर इंतजार करना पड़ा। परेशान परिजनों ने वन विभाग को फोन किया लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया जिसके बाद वन विभाग पहुंचकर बंदरों को भगाने की गुहार लगाई, परंतु अवकाश होने की वजह से कोई मदद नहीं मिल सकी। दोपहर बाद घायल बंदर की हालत में सुधार आने पर बाद झुंड उसे साथ लेकर वहां से निकला।