जगन्नाथ रथयात्रा को मंजूरी मिलने पर बोले अमित शाह: पूरा देश इस फैसले से खुश है

अमित शाह जगन्नाथ पुरी फोटो
फाइल फोटो ( केन्द्रीय गृहमंत्री, अमित शाह)

ओडीसा के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल जगन्नाथ पुरी मंदिर से 23 जून को निकलने वाली रथयात्रा पर कोरोना के चलते सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी. सोमवार को कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई हुई जिसके बाद कोर्ट ने कुछ शर्तों पर इस यात्रा के लिए अनुमति दे दी है. कोर्ट ने कहा है कि पुरी रथयात्रा में सभी के स्वास्थ्य का ध्यान मंदिर समिति, राज्य व केन्द्र सरकार के साथ यह यात्रा आयोजित की जाएगी.

अमित शाह बोले पूरा देश कोर्ट के इस फैसले से खुश है

गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर के कहा कि “आज का दिन हम सब के लिए विशेष है. विशेषकर ओडिशा के भाई बहनों और जगन्नाथ पुरी के भक्तों के लिए एक शुभ दिन है, रथयात्रा को सुप्रीम कोर्ट की मॅंजूरी मिलने से पूरे देश में उत्साह और आनंद का माहौल है। जय जगन्नाथ!”

अमित शाह ने लिखा कि “यह मेरे साथ-साथ देशभर के करोड़ों श्रद्धालुओं के लिए हर्ष की बात है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने न केवल श्रद्धालुओं की भावनाओं को समझा, बल्कि इस मामले का सकारात्मक हल निकले, इसके लिए तुरंत प्रयास शुरू किए, जिससे हमारी यह महान परंपरा कायम रही। कल शाम मैंने प्रधानमंत्री जी की सलाह पर गजपति महाराज जी (पुरी के राजा) और पुरी के शंकराचार्य जी से बात की और यात्रा को लेकर उनके विचारों को जानकर प्रधानमंत्री जी को अवगत कराया। आज सुबह प्रधानमंत्री के निर्देश पर सॉलिसिटर जनरल से भी बातचीत की।”

सिर्फ जगन्नाथ पुरी की रथयात्रा को ही मिली है मंजूरी

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा, ‘हम लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य और उनकी सुरक्षा के साथ समझौता नहीं कर सकते. अगर रथ यात्रा के कारण कोरोनावायरस फैलता है तो यह विनाशकारी हो सकता है क्‍योंकि इसमें बड़ी संख्‍या में लोग एकत्र होते हैं.’ न्यायालय ने कहा है कि उसने सिर्फ पुरी में रथयात्रा निकालने की अनुमति दी है, ओड़ीसा में किसी अन्य स्थानों के लिए नहीं.