वाराणसी, 19 मई. ज्ञानवापी मामले में सर्वे (Gyanvapi Survey) के दौरान शिवलिंग के बाद अब पश्चिम दिशा की दीवारों पर हिन्दू देवी देवताओं और शेषनाग के निशान मिले हैं। इससे अब साफ हो गया है कि यह मस्जिद मंदिर को तोड़कर बनाई गई थी। उल्लेखनीय है एडवोकेट अजय मिश्रा ने इस इस मामले को लेकर कोर्ट में याचिका दाखिल की थी जिसकी रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

बता दें सर्वे के दौरान रिकार्ड हुई वीडियो और फोटोग्राफी (Photography) में यह साफ़ दिख रहा है कि ज्ञानवापी मस्जिद की उत्तर से लेकर पश्चिम की दीवार पर हिन्दू देवी-देवताओं और शेषनाग की कलाकृतियां बनी हुई हैं। एडवोकेट कमिश्नर अजय मिश्रा (Advocate Commissioner Ajay Mishra) को कोर्ट के आदेश पर ज्ञानवापी मामले में सूचनाएं लीक करने के आरोप में हटा दिया गया है, लेकिन उन्होंने अपनी रिपोर्ट (Report) में जो दावे किए जा रहे हैं वह बेहद अहम हैं।

यह भी पढ़ें: काशी विश्वनाथ पर विवादित बयान देने वाले प्रोफेसर की हुई पिटाई, कहा जाति वाली गाली भी दी

मस्जिद की पश्चिमी दीवार पर बनी कलाकृतियां

अजय मिश्रा की इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मस्जिद की बनी बैरिकेडिंग के अंदर मलवा है। जिसमें मस्जिद की दीवारों पर बने कला-कृतियों से मेल खाने वाली शिलापट्ट हो सकती हैं। जिसके बाद हिंदू पक्ष ने बेरिकेडिंग के अंदर के मलवे की जांच के लिए कोर्ट में पुनः याचिका दाखिल कर दी है।