भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी केेे फैंस के लिए एक बुरी खबर. महेंद्र सिंह धोनी ने लिया फैसला अब नहीं खेलेंगे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट. इससे पहले टेस्ट क्रिकेट सेे ले चुकेे हैं सन्यास.

भारतीय क्रिकेट का इतिहास जब भी लिखा जाएगा उसमें कई खिलाड़ियों का ज़िक्र होगा लेकिन जिस एक खिलाड़ी का ज़िक्र सुनहरे अक्षरों में होगा वो कोई और नहीं बल्कि महेन्द्र सिंह धोनी होगा. एमएस धोनी भारतीय क्रिकेट का एक ऐसा सुनहरा नाम जिसके बिना वाकई भारतीय क्रिकेट अधूरा है.

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आज इंस्टाग्राम में पोस्ट कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया.

यह भी पढ़े- 60 सालों में हड़पी 43 हजार वर्ग km जमीन, अब LAC से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं:- पीएमओ

आपको बता दें कि दिसंबर 2014 में धोनी ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. जिसके बाद वह वनडे और ट्वेंटी-20 ही खेल रहे थे. अपना आखिरी वनडे क्रिकेट इन्होंने वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था.

लंबे समय से महेंद्र सिंह धोनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने पर अटकलें लगाई जा रही थी. जो उन्होंने आज स्वयं इंस्टाग्राम पर पोस्ट करके विराम लगा दिया.

एम. एस. धोनी ने क्रिकेट करियर की शुरुआत 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ शुरू की थी. धोनी ने अभी तक 90 टेस्ट मैच, 350 एक दिवसीय और 98 टी-20 मुकाबलों में भारत का नेतृत्व किया है.

यह भी पढ़े- उत्तरकाशी के लिए राहत की खबर, आज नहीं मिला कोरोना संक्रमित मामला

महेंद्र सिंह धोनी की गिनती सफलता कप्तान और सफल भारतीय विकेटकीपर के तौर पर होती है. धोनी की कप्तानी में 2007 में टीम इंडिया ने टी-20 विश्व कप अपने नाम किया था, वही महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत को 2011 में विश्व कप जीता था.