खटीमा में यूपी के बुलडोजर का भय

यूपी चुनाव के दौरान बुल्डोजर छाया रहा और दूसरी बार योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद वह फिर से एक्शन में है। उनके पदचिन्हों पर चलकर दूसरे राज्य की सरकारें अब बुल्डोजर के प्रभाव को समझने लगी है। फिलहाल यूपी में बुलडोजर का कहर जारी है और अपराधियों के निर्माण तथा अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाए जा रहे हैं। वही अब यूपी के बुल्डोजर का खौफ उत्तराखंड सीएम पुष्कर धामी के खटीमा विधानसभा क्षेत्र में पहुंच गया है।

[fvplayer id=”2″]

खटीमा में यूपी के बुलडोजर का भय

बता दें कि अविभाजित यूपी में लोहियाहेड पावर हाउस को पानी की आपूर्ति करने तथा शारदा नहीं पर डैम बनाने के लिए शहर का निर्माण किया गया था। नहर के तटबंधों में पानी के रिसाव की आंशका होने की वजह से उस दौरान करीब 22 किमी लंबी नहर के किनारे खाली जगह छोड़ दी गई थी। जिसके बाद वहां लोग बसते गए। इतना ही नहीं उत्तराखंड सरकार ने उन्हें सारी सुविधाएं बिजली-पानी, सड़क इत्यादि उपलब्ध करा रखी है। अब उत्तरप्रदेश सरकार ने खटीमा के दर्जनभर गांवों के लोगों से अपनी जमीन खाली करने का नोटिस जारी कर दिया। जिसके बाद अब लोगों में यूपी के बुलडोजर का खौफ छाया हुआ है।

यह भी पढ़ें- हल्द्वानी: अतिक्रमण हटाने गए बुलडोजर के आगे लेट गए कांग्रेस पार्षद

खटीमा के इन गांव में अधिकतर समय पानी भरा रहता है. इतनी भीषण गर्मी में भी गांव में पानी भरा हुआ है जो नहर से रिस कर आ रहा है। लोगों ने आरोप लगाया कि जमीन खाली कराने के लिए सोच समझकर नहर में अधिक पानी छोड़ा गया है। उनका कहना है कि अब वह इतने साल बाद अपना घर बार छोड़कर कहां जाए, पहले सरकार ने हमें बताया और अब चार-पांच पीढ़ी के बाद उजाड़ने जा रही है। ग्रामीणों ने सीएम धामी से अपील की, कि वह योगी आदित्यनाथ से बात करें समस्या का समाधान निकालें।