IAS क्रैक करना आसान नहीं है। यह सबसे मुश्किल एग्जाम में से एक है। इस बार स्टूडेंट्स को काफ़ी उलझाने वाले सवाल पुछे गए। जिनका जवाब हां और ना दोनों में हो सकते थे, ऐसे में बाजी उसी की थी जिसने अपनी सुझबुझ और चालाकी से जवाब दिया हो। बिहार के 26वीं रैंक पाने वाले उत्सव आनंद से वर्क फ्रॉम होम कल्चर और दिल्ली में फ्री बिजली देनी चाहिए या नहीं पर सवाल पूछे गए हैं। तो चलिये जनते हैं की यूपीएससी क्रैक करने वाले ने क्या जवाब दिया।

यूपीएससी में 26वीं रैंक लाने वाले उत्सव आनंद से वर्क फ्रॉम होम पर सवाल पुछे गए, आम आदमी और सरकार को इससे क्या फायदे नुकसान हो रहा है। वर्क फ्रॉम होम में प्रमोट करना चाहिए या नहीं के सवाल पर उत्सव ने कहा कि यह संकर संस्कृति की तरह होना चाहिए।

फ्रीडम अधिक होनी चाहिए, लेकिन कार्यालय बंद नहीं होने चाहिए। कर्मचारियो को ये आजादी होनी चाहिए की अगर वो वर्क फ्रॉम होम करना चाहे तो कर सकते हैं। साथ ही उनसे यह भी पूछा गया कि कोरोना ने नौकरी के सेक्टर में क्या नया दिया?

अफसर सोशल मीडिया चलाए या नहीं?

बिहार में 179 लेन वाले शुभ्रा से इंटरव्यू में 30 मिनट तक सवाल किए गए। उनसे ये पूछा गया कि प्रशासनिक अधिकारी को सोशल मीडिया पर एक्टिव रहना चाहिए या नहीं? सुभ्रा ने बड़े अच्छे से जवाब देते हुए कहा की हा एक्टिव होने चाहिए, लेकिन ध्यान भी देना चाहिए। सोशल मीडिया के दोनो पहलु(पॉजिटिव और निगेटिव) को बताया।