अल्मोडा़ में शुरू हुई रामलीला, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत वर्चुअल रूप से करेंगे रामलीला का शुभारंभ

अल्मोडा़- 160 सालों से चल रही रामलीला आज अल्मोड़ा में पुनः शुरू हो गई है। आज सेेे अल्मोड़ा में रामलीला मंचन का प्रसारण फेसबुक के माध्यम से लाइव किया जाएगा। जिसका शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत करेंगे।

यह भी पढ़े- लोकगायक बीके सामंत का फेसबुक पेज हुआ हैक, ट्वीट कर दी जानकारी

अल्मोड़ा में रामलीला के 160 वर्ष पूरे

बुजुर्ग बताते हैं कि कुमाऊं मंडल में सर्वप्रथम गोस्वामी तुलसीदास रचित रामचरितमानस पर आधारित रामलीला का मंचन अल्मोड़ा में शुरू हुआ था। 1860 में तत्कालीन डिप्टी कलेक्टर स्वर्गीय देवीदत्त जोशी ने अल्मोड़ा के बद्रेश्वर में सबसे पहले मंचन किया था।

अल्मोड़ा में रामलीला को अब 160 वर्ष हो चुके हैं। इस रामलीला के गायन पद्धति पर आधारित होता है इसकी खासियत है जिसमें शास्त्रीय रागों के साथ सभी कलाकार अपने पात्र का गायन खुद ही करते हैं।

अल्मोड़ा में रामलीला हुई शुरू

हर साल अल्मोड़ा में रामलीला मंचन को देखने के लिए दर्शक काफी संख्या में आते हैं परंतु कोरोना काल के चलते इस बार केवल 200 लोगों को ही अनुमति मिली है। जिसके लिए रामलीला मंचन का ऑनलाइन प्रसारण किया जाएगा।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत करेंगे उद्घाटन

श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला के अध्यक्ष बिट्टू कर्नाटक ने दर्शकों से कलाकारों का उत्साह बढ़ाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि प्रशासन के दिशा निर्देशों के अनुसार कलाकारों, पात्र, कार्यकर्ताओं तथा सहयोगियों को ही पास जारी किए गए हैं।

बिट्टू कर्नाटक ने बताया कि दिनांक 17 तारीख शनिवार को सर्वप्रथम 7:45 बजे सायं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा वर्चुअल रूप से रामलीला का शुभारंभ देहरादून से किया जाएगा और उसके पश्चात प्रथम दिन की लीला रावण की तपस्या नारद मोह से प्रारंभ होकर गौरी पूजन तक की जाएगी।

यह भी पढ़े- विश्व धरोहर फूलों की घाटी सैलानियों के लिए होगी बंद, अभी तक 6750 पर्यटक पहुंचे

रामलीला समिति द्वारा दर्शकों के लिए ऑनलाइन प्रसारण की सुविधा उपलब्ध कराई है, जिसे अब आप फेसबुक पेज पर भी देख कर सकते हैं

नोट- अल्मोड़ा की रामलीला देखने के लिए यहां क्लिक करें