बागेश्वर के सक्षम रौतेला को मिला इंटरनेशनल मास्टर (आईएम) का खिताब, प्रदेश के पहले खिलाड़ी

हाल में ही ऐसी खबर आई है जो उत्तराखंड के लिए गौरव की बात है, उत्तराखंड के जनपद बागेश्वर के सक्षम रौतेला को विश्व शतरंज संस्था फीडे ने इंटरनेशनल मास्टर के खिताब से नवाजा है। यह खिताब पाने वाले राज्य में प्रथम खिलाड़ी है।

यह भी पढ़े- गढ़वाली लोकगायक अंकित चंखवान का “प्यारु मुलुक” गीत ने मचाया धमाल

बागेश्वर के सक्षम रौतेला (16वर्षीय) शतरंज खिलाड़ी

शतरंज खिलाडी सक्षम रौतेला की इस उपलब्धि से वह देश के चुनिंदा 125 इंटरनेशनल मास्टर में शामिल हो गये है, और वर्तमान में उनकी फिडे रेंटिग 2480 है। देश के प्रथम 50 खिलाडियों में शामिल होने वाले उत्तर भारत के प्रथम इंटरनेशनल मास्टर हैं।

बता दें कि कंट्रीवाइड पब्लिक स्कूल बागेश्वर के कक्षा बारवी के छात्र सक्षम ने साल 2012 से शतरंज शूरू किया और पिछले पांच सालों से अंतर्राष्ट्रीय कोच रूस के डेविक एक्टन तथा श्रीनाथ से कोचिंग ले रहे थे। फिडे की इंटरनेशनल मास्टर शतरंज प्रतियोगिता मार्च 2020 में पेरिस में हुई थी, जहां सक्षम ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए कुल 2480 रेटिंग प्राप्त की। इसी के साथ होने इंटरनेशन मास्टर (आईएम) का खिताब मिल गया।

बागेश्वर के सक्षम रौतेला के माता पिता मुख्यालय में lic के अभिकर्ता है। वह बताते हैं कि सक्षम बचपन से ही बहुत मेहनती है, तथा उसकी इसी मेहनत ने उसे इस मुकाम तक पहुंचाया है।

बागेश्वर के सक्षम रौतेला को मिला इंटरनेशनल मास्टर (आईएम) का खिताब, प्रदेश के पहले खिलाड़ी

माता पिता को दिया श्रेय

सक्षम ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने अभिभावक तथा कोच को दिया। उन्होने कहा कि उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाने के लिए अभिभावकों ने बहुत कुछ त्याग किया। इस साल कक्षा 12वीं में होने से वह अपना ध्यान पढ़ाई पर लगा रहे है। सक्षम के छोटे भाई अंडर-7 और अंडर-9 के शतरंज खेल में कई राष्ट्रीय खिताब जीत चुके हैं।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में कोरोना के कारण रुकी हुई सभी परीक्षाएं दिसंबर में होंगी – आयोग

उत्तराखंड राज्य के दुर्गम के गांव में कम संसाधनों के बीच सक्षम रौतेला की यह उपलब्धि सभी युवाओं के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं है।