भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का कांग्रेस पर कटाक्ष, चुनाव रणनीति के बजाए सेनापति को लेकर उलझी कांग्रेस

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत पिछले कुछ दिनों से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर अपनी बात रख रहे हैं, जिसमें उन्होंने इंदिरा हृदयेश और प्रीतम सिंह का नाम भी रखा है। उत्तराखंड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस को इस समय चुनावी रणनीति बनानी थी वहां कांग्रेस सेनापति के चेहरे को लेकर उलझी है।

बड़ी खबर: उत्तरकाशी के तीनों विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी UKD

बता दें कि पिछले कुछ समय से उत्तराखंड कांग्रेस में मुख्यमंत्री चेहरे को लेकर अंदरूनी कलह साफ दिख रही है। जिसको भाजपा ने अंदरूनी मामला बताते हुए कहा कि उत्तराखंड के निवासी एक बार फिर कांग्रेस की इस फितरत को समझ रहे हैं।

बंशीधर भगत ने किया कांग्रेस पर कटाक्ष

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस चुनाव में केवल सत्ता सुख पाने की मंशा पाले हुए हैं, और उत्तराखंड के विकास को लेकर उन्हें कोई मतलब नहीं है। की वजह से मुख्यमंत्री चेहरे को लेकर कांग्रेस में दावेदारों ने अपनी आजमाइश शुरू कर दी है।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जब भी कांग्रेस पार्टी सत्ता पर काबिज हुई है, तो नेतृत्व को लेकर हुई दावेदारी से राज्य के विकास पर प्रतिकूल प्रभाव के साथ प्रदेश में अराजकता का माहौल बना है।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान समय में कांग्रेस के पास सेना तो है नहीं, ना ही किसी को सेना की फिक्र है। कांग्रेस में सभी लोग बिना सेना के सेनापति बनना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी नेताओं के अपने अलग-अलग कैंप कार्यालय चल रहे हैं। जिसमें पूर्व सीएम का जाखन में, एक राजीव भवन में और एक नेता प्रतिपक्ष का हल्द्वानी में है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का कांग्रेस पर कटाक्ष, चुनाव रणनीति के बजाए सेनापति को लेकर उलझी कांग्रेस

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का चेहरा को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कह दी बड़ी बात

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस के मंसूबों को अब जनता समझ चुकी है। और कांग्रेस सरकार के समय घोटालों, अराजकता तथा राजनीतिक अस्थिरता का जो माहौल रहा वह एक बार पुनः ताजा हो गई।


ख़बर शेयर करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें