दुखद खबर: जनपद चमोली में बादल फटने से जेई की मौत, 3 घायल

न्यूज डेस्क चमोली: उत्तराखंंड में इस समय कई क्षेत्रों में भारी वर्षा के कारण आपदा जैसी स्थिति उत्पन्न हो रखी है. जनपद चमोली में बादल फटने से जेई की मृत्यु और 5 लोग घायल हुए हैं.

आपको बता दें कि इस समय उत्तराखंड के कई जिलों में मौसम विभाग द्वारा रेड अलर्ट जारी किया गया है. उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन होने की वजह से कई क्षेत्रों का संपर्क मार्ग बंद हो रखा है।

चमोली में बादल फटने से जेई की मौत

प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद चमोली के तहसील पोखरी क्षेत्र के ताली अंसारी गांव में आज सुबह बादल फटने से जेइ की मृत्यु और 5 अन्य लोग घायल हुए हैं.

यह भी पढ़े- राष्ट्रीय सेवा योजना के छात्रों की मुहिम, लाॅकडाउन में जूनियर छात्रों की पढ़ाई में कर रहे मदद

आपको बता दे कि अंसारी गांव में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण कार्य शुरू हुआ था. जिसके लिए ग्रामीण वासियों द्वारा ठेकेदार के श्रमिक और जूनियर इंजीनियर के रहने की व्यवस्था पंचायत भवन में की थी. मंगलवार सुबह तड़के बादल फटने से पंचायत भवन ध्वस्त हो गया. राजस्व विभाग ने मौके पर पहुंचकर मलबे में दबे हुए लोगों को बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार बादल फटने से जेई की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, तथा मजदूर और तीन ड्राइवर घायल हो गए. जिनका सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पोखरी में इलाज चल रहा है

यह भी देखें- चमोली: 350 की आबादी वाले ठेली गांव को नहीं अभी तक मिला राजस्व गांव का दर्जा

आपको बता दें कि मृतक व्यक्ति मयंक सेमवाल पुत्र सतीश चंद्र रुद्रप्रयाग जिले के पोस्ट तिलवाड़ा के ग्राम बेनेली के निवासी थे जो वर्तमान में जेई पद पर तैनात थे.

जयपाल सिंह निवासी हिमाचल प्रदेश, अनिल सिंह निवासी ग्राम नवली पोस्ट ऑफिस कालसिर पोखरी, रमेश पुत्र चंचल नेपाल निवासी घायल हुए हैं. जिनका इलाज पोखरी अस्पताल में इलाज चल रहा है।