विश्व धरोहर फूलों की घाटी सैलानियों के लिए होगी बंद, अभी तक 6750 पर्यटक पहुंचे

न्यूज डेस्क जोशीमठ- विश्व धरोहर फूलों की घाटी में फूलों की कमी को देखते हुए 31 अक्टूबर से यह सैलानियों के लिए बंद कर दिया जाएगा। जिसके बाद यहां किसी को जाने की अनुमति नहीं होगी।

यह भी देखें- बागेश्वर के सक्षम रौतेला को मिला इंटरनेशनल मास्टर (आईएम) का खिताब, प्रदेश के पहले खिलाड़ी

फूलों की घाटी उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित है, जहां हर साल लगभग लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं। यहां एक राष्ट्रीय उद्यान है जिसे विश्व धरोहर घोषित किया गया है।

फूलों की घाटी 1 जून से खुल गई थी, परंतु कोरोनावायरस के चलते 1 अगस्त से पर्यटकों को यहां जाने की अनुमति मिली। प्रदेश सरकार द्वारा शुरू में जारी गाइडलाइंस से यहां बहुत कम पर्यटक पहुंचे। बाद में सरकार द्वारा पर्यटकों के लिए जारी गाइडलाइन में मिली छूट के बाद यहां काफी संख्या में पर्यटक आने लगे।

चमोली स्थित विश्व धरोहर फूलों की घाटी 31 अक्टूबर से बंद

विश्व धरोहर फूलों की घाटी में अभी तक 6700 पर्यटक पहुंच चुके हैं जिससे विभाग को एक लाख तक का राजस्व प्राप्त हुआ है। घाटी में सुरक्षा की दृष्टि को देखते हुए विभाग घाटी बंद होने से पूर्व 8 ट्रैप कैमरे लगाएगा। आने वाले सैलानी या केवल 31 अक्टूबर तक ही घाटी का लुत्फ उठा सकेंगे।

यह भी पढ़े- Boycott laxxmi Bomb: अक्षय कुमार की लक्ष्मी बाँम्ब फिल्म का बायकॉट शुरू, पिछले सप्ताह हुआ ट्रेलर रिलीज

घाटी में अब बहुत कम फूल नजर आ रहे हैं, जिसके कारण 31 अक्टूबर के बाद यहां किसी को जाने की अनुमति नहीं होगी। घाटी में अभी तक पहुंचे 6750 पर्यटकों में से 11 विदेशी पर्यटक शामिल है