उत्तराखंड: प्रशासन ने नहीं सुनी तो 11 युवाओं ने खुद ही गांव तक बना दी सड़क

कुमाऊं मंडल में स्थित चंपावत जिला जहां सौंज गांव के युवाओं ने मिलकर एक ऐसा शानदार काम किया, जिसको लोगों ने खूब सराहा है। सौंज गांव के 11 युवाओं ने मिलकर खुद ही अपने गांव को सड़क से जोड़ दिया। उत्तराखंड में ना जाने कितने गांव ऐसे हैं जो सड़क जैसी महत्वपूर्ण सेवाओं से वंचित हैं।

वाकई इन युवाओं द्वारा किया गया कार्य सराहनीय है। इन युवाओं ने लाॅक डाउन का सही इस्तेमाल कर गांव को सड़क से जोड़ कर एक मिशाल कायम की है। अब गांव के लोग आपात स्थिति में युवाओं के कठिन परिश्रम से बनाईं गई सड़क से स्कूल कालेज, अस्पताल जा सकेंगे।

मिली जानकारी के मुताबिक सौंज गांव के युवा शिक्षक इंदुवर जोशी ने युवाओं को स्वयं सड़क निर्माण करने का सुझाव दिया। मास्टर जी के इस सुझाव से ग्रामीण युवकों ने एक टीम बनाई और गांव तक सड़क बना दी। इन युवाओं ने मिलकर एक व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाया है, जिसमें गांव के विकास की चर्चा होती है।