चारधाम यात्रा अपडेट: इस दिन बंद होंगे चारों धामों के कपाट- हिन्दू लाइव

1

कोरोना के कारण इस बार चारधाम यात्रा काफी देर से शुरू हुई थी। आज विजयदशमी के पावन पर्व पर चारों धामों के कपाट बंद करने की तिथि और समय तय किए गए। पवित्र धाम बदरीनाथ केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट नवंबर में बंद किए जाएंगे।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड: कर्मचारियों के वेतन देने के लिए रोडवेज की जमीन बेचने की तैयारी में सरकार

चारों धामों के कपाट बंद होने का मुहूर्त तय

गंगोत्री धाम के कपाट 15 नवंबर को बंद

उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए अन्नकूट के पावन पर्व पर 15 नवंबर को 12:15 पर बंद किए जाएंगे। गंगोत्री मंदिर समिति की बैठक ने दशहरे के पावन पर्व पर गंगोत्री मंदिर के कपाट बंद करने का मुहूर्त तय किया गया। 15 नवंबर को 12:30 बजे मां गंगा की डोली गंगोत्री से मुखवा की ओर रवाना होगी तथा 16 नवंबर को मुखवा स्थित गंगा मंदिर में मूर्ति को स्थापित किया जाएगा।

यमुनोत्री धाम के कपाट 16 नवंबर को

यमुनोत्री मंदिर समिति की बैठक में 16 नवंबर को भैया दूज के पावन पर्व पर 12:15 बजे यमुनोत्री धाम के कपाट बंद करने के मुहूर्त तय किया है। इससे पूर्व में जमुना के मायके कर साले गांव से शनिदेव की डोली 7:30 बजे अपनी बहन यमुना की डोली को लेने यमुनोत्री धाम के लिए रवाना होगी।

बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर को

चमोली जिले में स्थित बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर को 3:35 पर मेष लग्न में बंद होंगे। विजयदशमी के पवित्र पर्व पर बद्रीनाथ धाम के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी मंदिर समिति ने बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद करने की तिथि घोषित की।

केदारनाथ धाम के कपाट 16 नवंबर

केदारनाथ धाम के कपाट भैया दूज पर 16 नवंबर को 5:30 पर विधि विधान के साथ बंद होंगे।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड:विद्यालय खोलने के लिए एसओपी जारी, पढ़े दिशा-निर्देश

देश में चल रही कोरोनावायरस के चलते चारों धामों में कपाट खुलने के बाद काफी सन्नाटा रह, परंतु पिछले 1 माह से धामों में श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।