उत्तराखंड: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के अमर्यादित बयान से सीएम आहत, मुख्यमंत्री ने मांगी माफी

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के अमर्यादित बयान पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश से माफी मांगी।

कांग्रेस नेता हरीश रावत ने सोनिया गांधी और मायावती को भारत रत्न देने की मांग की

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के अमर्यादित बयान

बता दें कि नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा था कि बीजेपी के पांच से छह विधायक उनके संपर्क में है। नैनीताल मैं आयोजित कार्यक्रम में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर भगत ने उनको बुढ़िया कह दिया।

बीजेपी विधायक के संपर्क की बात पर प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि अरे बढ़िया वह तुझसे क्यों संपर्क करेंगे? क्या डूबते जहाज से संपर्क करेंगे? बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की गैर मर्यादित टिप्पणी से बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं की हंसी से सभा गूंज उठी।

प्रदेश अध्यक्ष की अमर्यादित बयान की हो रही निंदा

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान के बाद चौतरफा निंदा हो रही है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के इस तरह की भाषा पर उन्हें बहुत दुख और कष्ट हुआ है। उन्होंने कहा कि पार्टी कब पड़ती क प्रदेश अध्यक्ष होता है, और प्रदेश अध्यक्ष के इस तरह की भाषा का प्रयोग करना मात्र शक्ति का अपमान है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से प्रदेश अध्यक्ष से नोटिस की मांग

इंदिरा हृदयेश ने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष के इस अमर्यादित बयान पर नोटिस लेना चाहिए और प्रदेश अध्यक्ष को इस बात का जवाब देना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि उनके इस अमृत बयान के लिए मैं कोई अशिष्ट टिप्पणी नहीं करूंगी, मैंने हमेशा मर्यादित भाषा का प्रयोग किया है। एक तरफ बीजेपी भारतीय संस्कृति का दावा करती है वहीं दूसरी तरफ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष उत्तराखंड की नारी और महिलाओं का अपमान करते हैं।

गणतंत्र दिवस की परेड में दिखेगी उत्तराखंड की झांकी, जानिए अब तक की झांकियां के नाम

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मांगी माफी

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर भगत के इस बयान पर खेद प्रकट किया, उन्होंने ट्वीट किया कि बहन इंदिरा हृदयेश जी आज मैं अति दुखी हूँ । महिला हमारे लिए अति सम्मानित व पूज्या हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से आपसे व उन सभी से क्षमा चाहता हँ जो मेरी तरह दुखी हैं। मैं कल आपसे व्यक्तिगत बात करूँगा व पुनः क्षमा याचना करूँगा।


ख़बर शेयर करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें