उत्तराखंड: हज यात्रा 2021 पर दिखा कोरोना का खौफ, मात्र मिले इतने आवेदन

ख़बर शेयर करें

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इस समय लोग यात्रा करने से बच रहै है। जिसका फर्क हज यात्रा 2021 पर भी दिख रहा है। साल 2019 की तुलना में इस वर्ष मात्र 20% जायरीनों ने आवेदन किया।

उत्तराखंड में कांग्रेस मुख्यमंत्री चेहरे पर कांग्रेस नेता हरीश रावत ने प्रीतम सिंह और इंदिरा हृदयेश के नाम का किया स्वागत

  • हज यात्रा 2021 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 10 जनवरी थी।
  • पिछले वर्ष की तुलना में केवल 20% जायरीनों के किया आवेदन
  • उत्तराखंड में कुल 703 लोगों ने किया आवेदन
  • 13 में से केवल 8 जिलों से मिले आवेदन

बता दें कि हज यात्रा की अंतिम तिथि पहले 10 दिसंबर थी, परन्तु हज कमेटी ने यह समय 1 माह के लिए बढ़ा दिया था। इस एक माह में भी सिर्फ 126 आवेदन मिले। हज यात्रा में जायरीनों की यह संख्या वर्ष 2019 के मुकाबले मात्र एक चौथाई है।

हज यात्रा 2021 के लिए जिलेवार किए गए आवेदन की संख्या

क्रं संजनपदप्राप्त हुए आवेदन
01हरिद्वार251
02उधम सिंह नगर210
03देहरादून155
04नैनीताल62
05पौड़ी16
06अल्मोड़ा04
07टिहरी03
08चंपावत02
  • 2018 में 3000 से अधिक आवेदन, 1265 लोगों को मिला था मौका
  • 2019 में 3020 लोगों ने किया आवेदन,

साल 2020 में कोरोना के चलते हज यात्रा स्थगित कर दी गई थी, हालांकि कोरोना वैक्सीन ने उम्मीद जगाई थी, परन्तु लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर समझौता करने के मूड में नहीं है।

मिली जानकारी के अनुसार 2021 हज यात्रा के लिए हज कमेटी द्वारा आनलाइन आवेदन मांगे थे, जिसके तहत कुल 703 आवेदन प्राप्त हुए।

उत्तराखंड: थम रही कोरोना की रफ्तार, तेजी से बढ़ रहा रिकवरी औसत

5 जिलों से नहीं मिले कोई आवेदन

राज्य के 13 जिलों में से केवल 8 जिलों से हज यात्रा के लिए आवेदन किया गया, जबकि 5 जिलों से हज कमेटी को एक भी आवेदन नहीं मिला। हरिद्वार जिले में जहां सर्वाधिक लोगों ने जाने की इच्छा जताई वहीं चंपावत में सबसे कम आवेदन मिले।


ख़बर शेयर करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें